Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. यात्रा गाइड
  6. /
  7. तिरुपति बालाजी मंदिर | संपूर्ण जानकारी

तिरुपति बालाजी मंदिर | संपूर्ण जानकारी

तिरुपति बालाजी एक परिचय – आंध्रप्रदेश में स्थित तिरुपति बालाजी मंदिर काफ़ी प्रसिद्ध है। यदि आप भी तिरुपति जाने की योजना बना रहे हैं या आपका भी वहां दर्शन करने का विचार है तो ये जानकारी आपके लिए बहुत लाभकारी हो सकती है। इसमें हम जानेंगे कि तिरुपति कैसे और कब जाया जाए, वहां जाने का खर्चा कितना होगा, रुकने की क्या व्यवस्था होगी, वहां कौन सी जगहों पर घूमना है, आदि।

तिरुपति बालाजी कैसे पहुंचे?
तिरुपति बालाजी कैसे पहुंचे?

तिरुपति बालाजी कैसे पहुंचे?

तिरूपति बालाजी बाय ट्रेन कैसे पहुचें?

सबसे पहले हम बात करेंगे बाय ट्रेन तिरुपति बालाजी पहुंचने की। यहां का नेयरेस्ट रेलवे स्टेशन तिरुपति ही है, लेकिन यहां पर सारी ट्रेन का स्टॉपेज नही है। इसका मतलब यह है कि जरूरी नहीं है कि जिस शहर से आप आ रहे हो वहां की ट्रेन का स्टॉपेज तिरुपति में हो या वो ट्रेन वहां रूके। चूंकि और ट्रेन का स्टॉपेज यहां हो सकता है पर लंबी दूरी तय करने वाली ट्रेन का स्टॉपेज होना यहां तय नही है। इस स्थिति में आप दूसरा ऑप्शन चुनें, जो कि है रेणुगुंटा जंक्शन रेलवे स्टेशन। ये स्टेशन तिरुपति से 7 किलोमीटर पहले पड़ता है।

तिरूपति बालाजी बाय बस कैसे पहुचें?

इन दोनो रेलवे स्टेशन से बाहर निकलने पर आपको वहां पर तिरुमाला तिरुपति बालाजी के ट्रस्ट की बसें आपको मिलेंगी।रेणुगुण्टा रेलवे स्टेशन से हो सकता है कि हर 1 घंटे के अंतराल में तिरुपति बालाजी के लिए आपको बस मिले। पर तिरुपति रेलवे स्टेशन से आपको लगभग हर 25-30 मिनट के अंतराल में बस मिल जायेगी।

अगर आपको बस नहीं मिलती है तो क्या करें?

यदि आपको तिरुपति रेल्वे स्टेशन से बस नहीं मिलती तो चिंता की कोई बात नही है। यहां से लगभग 400 मीटर की दूरी पर सेंट्रल बस स्टैंड है, जहां से आपको डायरेक्ट तिरुमाला के लिए बस मिल जाती है। जहां तिरूपति रेलवे स्टेशन के पास से तिरुमाला तक बस का किराया लगभग 30 रूपए है, वहीं रेणुगुंटा से तिरुमाला तक बस का किराया लगभग 40 रुपए तक होता है। दूसरी तरफ अगर बात करें बाय फ्लाईट तिरुपति आने की, तो तिरुपति में इंटरनेशनल एयरपोर्ट मौजूद है , जहां से आगे आप बाय रोड तिरुपति बालाजी मंदिर तक जा सकते हैं।

इन दोनो रेलवे स्टेशन से बाहर निकलने पर आपको वहां पर तिरुमाला तिरुपति बालाजी के ट्रस्ट की बसें आपको मिलेंगी।रेणुगुण्टा रेलवे स्टेशन से हो सकता है कि हर 1 घंटे के अंतराल में तिरुपति बालाजी के लिए आपको बस मिले। पर तिरुपति रेलवे स्टेशन से आपको लगभग हर 25-30 मिनट के अंतराल में बस मिल जायेगी।

यदि आपको तिरुपति रेल्वे स्टेशन से बस नहीं मिलती तो चिंता की कोई बात नही है। यहां से लगभग 400 मीटर की दूरी पर सेंट्रल बस स्टैंड है, जहां से आपको डायरेक्ट तिरुमाला के लिए बस मिल जाती है। जहां तिरूपति रेलवे स्टेशन के पास से तिरुमाला तक बस का किराया लगभग 30 रूपए है, वहीं रेणुगुंटा से तिरुमाला तक बस का किराया लगभग 40 रुपए तक होता है।

तिरूपति बालाजी बाय फ्लाईट कैसे पहुचें?

दूसरी तरफ अगर बात करें बाय फ्लाईट तिरुपति आने की, तो तिरुपति में इंटरनेशनल एयरपोर्ट मौजूद है , जहां से आगे आप बाय रोड तिरुपति बालाजी मंदिर तक जा सकते हैं। साथ ही अगर आप अपनी फैमिली के साथ तिरुपति आ रहे हैं और आपके पास अपनी पर्सनल गाड़ी है तो आप बाय रोड भी तिरुपति आ सकते हैं।

तिरूमाला क्या है?

तिरुपति बालाजी का मंदिर एक पर्वत पर स्थित है, जिसे तिरूमाला कहा जाता हैं। तिरुपति रेल्वे स्टेशन से तिरुपति बालाजी मंदिर के बीच की दूरी लगभग 22 किलोमीटर है, जबकि रेणुगुंटा रेल्वे स्टेशन से तिरुपति बालाजी मंदिर तक की दूसरी लगभग 30 किलोमीटर तक है।

तिरुमाला जाने वाले रास्ते पर पर्वत चढ़ने से पहले एक चैकपोस्ट पड़ता है। यहां पर सभी यात्रियों के समान और पूरी बस की चैकिंग की जाती है। इसके बाद परमिट मिलने पर फिर से बस को तिरुमाला के लिए रवाना किया जाता है। आपका ये सफ़र लगभग 1 घंटे में तय हो जायेगा। पर्वत पर होने के बावजूद भी आपको तिरूमाला किसी शहर से कम नहीं लगेगा।

तिरूपति बालाजी में रुकने की व्यवस्था कैसे होगी?

तिरुमाला तक बस का सफ़र पूरा होने के बाद जब आप बस स्टैंड पर उतरेंगे तो वहां पर ठहरने के लिए आपको पास में ही स्थित CRO Office में जाकर पता करना होगा की वहां कोई रूम अवेलेबल हैं या नहीं। यहां पर रूम का किराया काफ़ी कम है। आपको बता दें कि यदि आप 3 बेड का रूम लेते हैं तो उसका एक दिन का किराया मात्र 50-100 रुपए तक ही होगा। और यदि आप ज्यादा लोग हैं और आपको ज्यादा स्पेस चहिए तो 5 बेड का रूम आपको लगभग 150 रुपए तक अवेलेबल हो जायेगा। इस प्रकार आप CRO Office में जाकर रूम बुक करवा सकते हैं। पर भीड़ ज्यादा होने की वजह से आपको काफ़ी देर तक लाइन में खड़ा रहना पड़ सकता है।

तिरुपति बालाजी के दर्शन किस तरह से करना उचित रहेगा?

कहा जाता है कि तिरुपति बालाजी के दर्शन करने से पहले वहां पर मौजूद बारहस्वामी जी के दर्शन करने चाहिए। तो आप भी बारहस्वामी जी के दर्शन करने के बाद ही तिरुपति बालाजी के दर्शन करें। बारहस्वामी मंदिर के पीछे की और एक कुंड है जहां आप स्नान के पश्चात बारहस्वामीजी के दर्शन कर सकते हैं।

मन्दिर परिसर में बारहस्वामी मन्दिर के पास में ही एक भोजनालय स्थित है जहां पर नाश्ते का समय 9-11 बजे तक होता है और 11 बजे से ही दोपहर का भोजन भी शुरू हो जाता है जो की शाम के 4 बजे तक चलता है। साथ ही 1 घंटे के अंतराल के बाद शाम 5 बजे से रात के 10 बजे तक रात्रि भोजन का कार्यक्रम भी शुरू हो जाता है। यह भोजनालय निरंतर रूप से चलता रहता है और यहां कोई अवकाश नहीं होता है। तो आप भी यहां जाकर तिरूपति बालाजी का प्रसाद ग्रहण कर सकते हैं जो की काफ़ी स्वादिष्ट होता है।

बालाजी के दर्शन करने से पहले आपको एक एक्सेस कार्ड बनवाना पड़ेगा, जिसे ई पास भी कहा जाता है। पर अगर आप शाम के समय दर्शन करने जाते हैं तो इसकी जरूरत नहीं पड़ती है। फिर भी आप किसी भी तरह की परेशानी से बचने के लिए ये एक्सेस कार्ड बनवा सकते हैं जो कि बिना किसी राशि के यानि फ्री में बन जाता है। इसके लिए आपके पास अपना कोई भी आइडेंटिफिकेशन कार्ड जैसे आधार कार्ड, वॉटर कार्ड, पासपोर्ट, आदि होना अनिवार्य है।

तिरूपति बालाजी दर्शन करने में कितना समय लगेगा?

तिरूपति में दर्शन करने में लगभग 24-36 घंटे तक लग जाते हैं। यह आंकड़ा तब का है, यदि आप ऑन सीजन या किसी प्रकार के त्यौहार के समय वहां जाते हैं। यहां पर आपको दर्शन के लिए लाइन में खड़े रहते हुए ही मंदिर के ट्रस्ट द्वारा सारी सुविधाएं दी जाती हैं, जैसे की नाश्ता पानी आदि। साथ ही वहां पर सोने की व्यव्स्था भी मिल जाती है। वहां पर सोने के लिए स्टेयर्स बने हुए हैं जहां पर आप आराम से सो सकते हैं।

दर्शन के समय लाइन में लगे हुए ही आपको यहां पर एक काउंटर मिलेगा जिसे लाडू प्रसाद काउंटर कहा जाता है। यहां पर टोकन के जरिए आपको 2 लड्डू 20 रुपए और 4 लड्डू 70 रुपए में दिए जाते हैं। ये लड्डू दर्शन करने के बाद अलग से बाहर स्थित काउंटर पर आपको टोकन के जरिए दे दिया जायेगा।

तिरुपति बालाजी की मूर्ति के आसपास लिक्सी भी प्रकार की लाइट्स नही लगाई गईं हैं केवल दीप के द्वारा ही यहां पर रोशनी दी जाती है। ध्यान रखें कि तिरूपति बालाजी मंदिर के अंदर मूर्ति के पास आपको किसी भी प्रकार का मोबाइल, कैमरा, आदि ले जाने की अनुमति नहीं मिलेगी तो बेहतर होगा कि ये चीजें आप अपने रूम या लॉकर में ही छोड़ दें।

तिरूपति बालाजी मंदिर के लिए क्या रहता है ड्रेस कोड?

अब बात करें ड्रेस कोड की तो पहले पुरुषों को यहां पर सिर्फ धोती ही पहननी पड़ती थी, पर वर्तमान में इस चीज पर कोई रोक टोक नहीं है। यदि आप तिरूपति जाते हैं तो आपको कम से कम 2 दिन यहां रुकना ही चहिए, क्यूंकि आपको दर्शन करने में समय लग सकता है तो उसी हिसाब से आप अपना बैकअप रखें।

तिरूपति बालाजी के दर्शन के पश्चात तिरुमाला से वापस तिरूपति आने पर आप तिरूपति में स्थित पद्मावती माता मंदिर के दर्शन भी जरूर करें। यह मंदिर तिरूपति रेलवे स्टेशन से लगभग 8-10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां पर ज्यादा भीड़ नहीं होती है तो आप आराम से पद्मावती माता के दर्शन कर सकते हैं।

तिरूपति में और भी कई मन्दिर मौजूद हैं जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। इसके लिए आप कोई ऑटो बुक कर सकते हैं जो की आपको यहां के सारे धार्मिक स्थलों की सैर करा देगा। इस सैर का कुल किराया लगभग 600-800 रूपए तक ही रिक्शा वाला आपसे लेगा। इन धार्मिक स्थलों में मुख्य गोविंद राजा स्वामी मन्दिर, श्री कोंडाद्रमा स्वामी मंदिर, श्री राधा कृष्ण मंदिर, श्री राम मंदिर हैं।

तिरूपति बालाजी जाने का कुल खर्चा कितना आएगा?

तिरूपति बालाजी की इस ट्रिप के कुल खर्चे की बात करें तो रेलवे या फ्लाईट के खर्चे और आपकी पर्सनल शॉपिंग का खर्चा अगर हम हटा दे, तो सिर्फ यहां पर 2 दिन रहने, खाने और घूमने का कुल खर्चा लगभग 1000 रुपए प्रति व्यक्ति ही आएगा, क्यूंकि यहां पर आपको रूम काफी कम दाम पर मिल जाते हैं और जैसे कि यहां खाने की पूरी व्यवस्था मन्दिर के ट्रस्ट द्वारा की जाती है तो इसमें मुश्किल से ही कोई खर्चा होता है।

तिरूपति बालाजी दर्शन के लिए ऑनलाइन बुकिंग कैसे करें?

बात करें रूम की ऑनलाइन बुकिंग की तो यह भी आप करा सकते हैं। पर आपको बता दें कि बुकिंग के लिए ऑनलाइन पोर्टल 90 दिन पहले खुलता है और यहां पर भी रूम काफी जल्दी बुक हो जाते हैं, क्यूंकि तिरुपति जाने वालों की संख्या बहुत ज्यादा होती है। तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम की ऑफिशियल वेबसाइट tirumala.org है, तो यहां से आप अपनी ऑनलाइन बुकिंग कर सकते हैं। इसके साथ ही आप 90 दिन पहले बुकिंग करके दर्शन का स्पेशल पास भी ले सकते हैं, जिसमें 1 पास की फीस लगभग 300 रुपए तक होती है। यही स्पेशल पास आप ऑफलाइन भी ले सकते हैं पर उसके लिए आपको 3 घंटे पहले लाइन में लगना होगा।

यदि आपको आनलाइन या ऑफलाइन किसी भी तरीके से रूम नहीं मिलता है तो घबराने की कोई बात नहीं है। CRO Office के पास में ही एक बहुत बड़ा हॉल है, जहां पर आपको अपना सामान रखने के लिए लॉकर अवेलेबल हो जायेगा। अगर आप प्राइवेट हॉटल लेने की सोच रहे हैं तो आपको बता दें कि आपको तिरुमाला में एक भी प्राइवेट होटेल्स देखने को नहीं मिलेंगे। यहां पर सिर्फ संस्था द्वारा बनाए गए विश्राम गृह हैं।

जैसा कि आपको पता ही होगा की तिरुपति में लोगो के द्वारा अपने बालों का अर्पण किया जाता है। तो इसके लिए आपको वहीं हॉल के पास बहुत सारे नाई दिखने को मिलेंगे, जहां लोग अपने बालों का मुंडन संस्कार करवाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.