ताड़केश्वर महादेव मंदिर
x

ताड़केश्वर महादेव मंदिर कहाँ है?

ताड़केश्वर महादेव मंदिर भारत के उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले में स्थित है। गढ़वाल राइफल’ के मुख्यालय लांसडाउन से यह मंदिर 36 किलोमीटर दूर है। देवदार और पाइन के घने जंगलों से घिरा यह स्थान उन लोगों के लिए आदर्श स्थान है, जो प्रकृति में सौंदर्य की तलाश करते हैं। शिवरात्रि के दौरान यहाँ पैर एक विशेष पूजा की जाती है। मंदिर समिति आवास के लिए एक धर्मशाला की सुविधा प्रदान करता है

ताड़केश्वर महादेव मंदिर
x
तारकेश्वर मंदिर

ताड़केश्वर महादेव मंदिर क्यों प्रसिद्ध है?

ताड़केश्वर महादेव मंदिर हिंदुओं के धार्मिक और तीर्थ स्थल के रूप में प्रसिद्ध है। यह इस क्षेत्र के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक माना जाता है और यह भगवान शिव को समर्पित है। यह अपने सुंदर प्राकृतिक परिवेश के लिए भी जाना जाता है और माना जाता है कि पांडवों ने अपने वनवास के दौरान इसका निर्माण किया था। हर साल हजारों भक्त यहां आते हैं, खासकर महाशिवरात्रि के त्योहार के दौरान।

ताड़केश्वर महादेव मंदिर का इतिहास?

पौराणिक कथाओं के अनुसार तारकासुर का वध करने के बाद भगवान शंकर इस स्थान पर आराम करने के लिए आए थे सूर्य देव की ताप से बचने के लिए माता पार्वती ने यहां देवदार के छायादार वृक्ष लगाए थे और ऐसा भी माना है कि मां पार्वती ने स्वयं देवदार के वृक्षों का रूप धारण कर लिया था मंदिर के आंगन परिसर और आसपास इस समय भी देवदार के वृक्ष मौजूद हैं।

ताड़केश्वर महादेव मंदिर की ऊंचाई?

तारकेश्वर मंदिर समुद्र तल से 1800 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है यहां बुरास का फल बांध देवदास के वृक्ष मौजूद हैं यह मंदिर भगवान शिव को समर्पित है और यह लोगों की आस्था का एक केंद्र है शिवरात्रि के अवसर पर यहां पर मुख्य रूप से पूजा अर्चना की जाती है शिवरात्रि पर्व यहां भव्य मेले का आयोजन किया जाता है जिसमें काफी मात्रा में लोग आते हैं और भगवान शिव के मंदिर ताड़केश्वर महादेव का आशीर्वाद ग्रहण करते हैं और साथ ही साथ मेले का लुफ्त भी उठाते है।

सड़क, ट्रेन और हवाई मार्ग से ताड़केश्वर महादेव मंदिर कैसे पहुँचे?

ताड़केश्वर महादेव मंदिर लैंसडाउन से 38 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है और यहां लैंसडाउन से गुंदलखेत गांव के लिए टैक्सी किराए पर लेकर आसानी से पहुंचा जा सकता है। गांव से मंदिर सिर्फ 1 किमी आगे है जिससे आसानी से ट्रेक किया जा सकता है। निकटतम रेल कोटद्वार रेलवे स्टेशन (70 किलोमीटर) और जॉली ग्रांट हवाई अड्डे, देहरादून (177 किलोमीटर) पर हवाई अड्डा है।

ताड़केश्वर महादेव मंदिर में रहने की क्या ब्यवस्था है?

मंदिर समिति आवास के लिए एक धर्मशाला की सुविधा प्रदान करता है

Leave a Reply

Your email address will not be published.