Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. internet
  4. /
  5. Software kya hai? Or yah Kaise kaam Karta Hai?

Software kya hai? Or yah Kaise kaam Karta Hai?

दरअसल कंप्यूटर प्रोगाम अपना कार्य अकेला नहीं कर सकता है। कंप्यूटर को अपना कार्य करने के लिए कुछ सहायक उपकरणों तथा प्रोग्राम्स की जरूरत होती है। यह प्रोग्राम तथा उपकरण से कंप्यूटर को कार्य करने के लायक बनाते हैं।

कंप्यूटर पर किसी विशेष कार्य को करने के लिए सॉफ्टवेयर की जरूरत पड़ती है। इस लेख में हम आपको ‘कंप्यूटर सॉफ्टवेयर’ क्या होता है? तथा सॉफ्टवेयर का महत्व आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दे रहे हैं। जरा खुद सोचिए अगर आपके कंप्यूटर में ब्राउज़र प्रोग्राम नहीं होता तो आप इस लेख को नहीं पढ़ रहे होते। इसी बात से आप सॉफ्टवेयर के महत्व का अंदाजा लगा सकते हैं।

सॉफ्टवेयर क्या होता है?

सॉफ्टवेयर को आप अपनी आंखों से नहीं देख सकते हैं, और ना ही इसे छुआ जा सकता है। क्योंकि इसका कोई भौतिक अस्थित्व नहीं है। यह एक आभासी वस्तु है, जिसे केवल समझा जा सकता है। यदि आपके कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर नहीं होगा तो आपका कंप्यूटर मृत प्राणी के समान है। जो केवल लोहे और अन्य धातुओ से बना एक बक्सा मात्र है।

Software kya  hai ? Or yah Kaise kaam Karta Hai ?
Software kya hai? Or yah Kaise kaam Karta Hai ?

परिभाषा (Defination) –

सॉफ्टवेयर निर्देशों तथा प्रोग्राम्स का वह समूह जो, कंप्यूटर को किसी कार्य विशेष को पूरा करने का दिशा-निर्देश देता है, तथा यूजर को कंप्यूटर पर काम करने की क्षमता को प्रदान करता है। सॉफ्टवेयर के बिना कंप्यूटर हार्डवेयर एक निर्जीव बक्सा मात्र है।

सॉफ्टवेयर के प्रकार (Types of Software) –

सॉफ्टवेयर 2 प्रकार के होते हैं।

  • सिस्टम सॉफ्ट्वेयर ( System Software )
  • अनुप्रयोग सॉफ्ट्वेयर ( Application Software )

1. System Software -“सिस्टम सॉफ्टवेयर “ यह एक ऐसा प्रोग्राम होता है, जिनका काम सिस्टम या कंप्यूटर को चलाना और उसे काम करने लायक बनाए रखना होता है। ऑपरेटिंग सिस्टम के माध्यम से सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के काम-काज पर नियंत्रण रखता है। और यह सिस्टम सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के बारे में जैसे मॉनिटर,प्रिंटर और स्टोरेज डिवाइस पर अपना नियंत्रण रखता है। सिस्टम सॉफ्टवेयर ही हार्डवेयर में जान डालता है। ऑपरेटिंग सिस्टम कंपाइलर आदि सिस्टम सॉफ्टवेयर के मुख्य भाग है।

Also Read: सिलिकॉन पदार्थ क्या होता है? सिलिकॉन कितने प्रकार के होते हैं?

सिस्टम सॉफ्टवेयर के प्रकार (Types Of System Software)

  • Operating System
  • Compiler
  • Interpreter
  • Assembler

2. Application Software – एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर ऐसे प्रोग्रामों को कहा जाता है, जो हमारे कंप्यूटर पर आधारित मुख्य कामों को करने के लिए प्रयोग किए जाते हैं। आवश्यकतानुसार अलग-अलग उपयोगों के लिए अलग-अलग सॉफ्टवेयर होते हैं। जैसे उदाहरण के लिए, वेतन की गणना करने के लिए, लेन-देन का हिसाब, वस्तुओं का स्टॉक रखने के लिए, बिक्री का हिसाब रखनेआदि कामों के लिए यह एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर प्रयोग किए जाते हैं।

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर के उदाहरण (Examples of Application Software)-

  1. M.S.Office
  2. Chrome
  3. Facebook
  4. Video Player
  5. Youtube
  6. Amazon

Also Read: इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IOT) क्या है? What is IOT in hindi?

सॉफ्टवेयर को हिन्दी में क्या कहते हैं?

सॉफ्टवेयर को हिन्दी में संचालन प्रणाली” कहते हैं।

मल्टीमीडिया में उपयोग किया जाने वाला सॉफ्टवेयर कौन सा है?

VLC मीडिया प्लेयर भी एक मल्टीमीडिया सॉफ्टवेयर है। इस के मध्य से हम कंप्यूटर के अंदर ऑडियो और वीडियो के रूप में गाने सुनते हैं। यह सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के अंदर ऑडियो और वीडियो देखने और सुनने के लिए सबसे ज्यादा जाना जाता है। इसके अंदर मल्टीमीडिया से संबंधित बहुत से कार्य किए जाते हैं।

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर क्या होता है?

हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर में अंतर हार्डवेयर एक भौतिक तत्व या घटक है, जो कंप्यूटर से जुड़े रहते हैं। सॉफ्टवेयर एक निर्देशों का समूह होता है, जो कंप्यूटर के विशिष्ट कार्य को पूरा करने के लिए निर्देश देते हैं। कंप्यूटर हार्डवेयर को हम छू सकते हैं वह देख सकते हैं।

सॉफ्टवेयर की उपयोगिता?

सॉफ्टवेयर किसी कंप्यूटर और कंप्यूटर उपयोगकर्ता के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। बिना सॉफ्टवेयर के कंप्यूटर का हार्डवेयर सिर्फ एक ढांचा के समान है। सॉफ्टवेयर का एस्तेमाल अलग-अलग क्षेत्र के हिसाब से अलग-अलग सॉफ्टवेयर के माध्यम से किया जाता है।

प्रोग्रामिंग सॉफ्टवेयर क्या है?

Application Software के अन्तर्गत बहुत से सॉफ्टवेयर आते हैं। जैसे – LibreOffice एक मुक्तस्रोत Application है। जिसके द्वारा Word processing, Spreadsheets, स्लाइड प्रस्तुतीकरण (slide presentations) आदि किए जा सकते हैं।

मोबाइल सॉफ्टवेयर क्या है?

निर्देशों या प्रोग्राम्स के कलेक्शन को सॉफ्टवेयर कहते हैं। जो प्रोग्राम्स कंप्यूटर को यूजर्स के इस्तेमाल योग्य बनाते हैं। जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम सबसे पहले एंड्राइड ओएस (Android Operating System) को मोबाइल में इंस्टॉल किया जाता है, और उसके बाद ही आप इसे इस्तेमाल कर पाते हैं।

हिंदी में प्रोग्राम को क्या बोलते हैं?

हिंदी में प्रोग्राम को कार्यक्रम, आयोजन, योजना या कार्यसूची कहते हैं। कंप्यूटर प्रोग्राम कंप्यूटर द्वारा किसी विशेष कार्य को करने या करने के लिए संगठन द्वारा समझी जाने वाली भाषा में दिए गए निर्देशों का एक समूह है। किसी भी कार्य को करने के लिए कंप्यूटर को एक प्रोग्राम की आवश्यकता होती है।

कंप्यूटर प्रोग्राम को प्रोग्रामिंग भाषा में लिखा जाता हैं। इन भाषाओं को मनुष्य के समझने योग्य बनाया है। अपने मूल रूप में, अधिकांश प्रोग्रामिंग भाषाओं में लिखे गए प्रोग्रामों को जिन्हें कंप्यूटर समझ नहीं सकते।इस काम के लिए कंपाइलर और इंटरप्रेटर सॉफ्टवेयर का प्रयोग किया जाता है। कंपाइलर और इंटरप्रेटर खुद प्रोग्राम होते हैं जो प्रोग्रामिंग भाषा में लिखे गए प्रोग्रामों को इंसानों के समय में योग्य बनाते हैं।

सॉफ्टवेयर कैसे बनाते हैं?

कंप्यूटर सॉफ्टवेयर बनाना थोड़ा सा कठिन कार्य है। क्योंकि इस कार्य को करने के लिए आपके पास जरूरी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज की अच्छी जानकारी और धैर्य होना जरूरी है. तभी आप एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेयर डेवलपर बन सकते हैं. सॉफ्टवेयर बनाने के लिए दर्जनों प्रोग्रामिंग भाषाओं का विकास किया जाता है. जिनके द्वारा आप अलग-अलग जरूरत के सॉफ्टवेयर डेवलप कर सकते हैं। आप सभी भाषाओं के विशेषज्ञ तो नहीं बन सकते हैं, मगर आप सीख जरूर सकते हैं. मगर शुरुआत के लिए आपको जावा C, c++ भाषाओं को सीखकर डेवलप कर सकते हैं। और कंप्यूटर कोडिंग में अपना करियर बना सकते हैं।

लाइसेंस सॉफ्टवेयर क्या होता है?

सॉफ्टवेयर का उपयोग सेवा तथा शर्तें यूजर अनुबंध का लिखित दस्तावेज सॉफ्टवेयर लाइसेंस कहलाता है। इस लाइसेंस में यूजर तथा सॉफ्टवेयर निर्माता के बीच अनुबंध की शर्तें लिखी जाती हैं। इन्हीं शब्दों के भीतर ही 1 यूजर कैसे सॉफ्टवेयर विशेष का प्रयोग कर सकता है?

सॉफ्टवेयर लाइसेंस कई प्रकार का होता है –

फ्री लाइसेंस (free license)
जो लाइसेंस के तहत पूरा सॉफ्टवेयर फ्री इस्तेमाल करने के लिए यूजर के लिए उपलब्ध करवाया जाता है। इस लाइसेंस के लिए किसी भी प्रकार कोई शुल्क नहीं लिया जाता है यूजर्स के निजी उपयोग के लिए इस प्रकार के सॉफ्टवेयर लाइसेंस उपलब्ध कराए जाते हैं। उसमें कमर्शियल इस्तेमाल की भी छूट होती है। यूजर इसके कोड को एक्सेस नहीं कर सकते हैं।

प्रोप्राइटरी लाइसेंस (Proprietary Licence)
प्रोप्राइटरी लाइसेंस लाइसेंस पैड होता है. इसके लिए आपको कुछ शुल्क चुकाना पड़ता है। यह शुल्क भी हो सकता है, और सब्सक्रिप्शन भी हो सकती है। इस लाइसेंस के तहत सॉफ्टवेयर फुल फीचर के साथ उपलब्ध कराया जाता है। लेकिन सोर्स कोड की इजाजत नहीं दी जाती है

ओपन सोर्स लाइसेंस (open source license)
ओपन सोर्स लाइसेंस सार्वजनिक होता है। और सभी के लिए उपयोग करने के लिए देता है। सॉफ्टवेयर के साथ-साथ सोर्स कोड उपलब्ध करने की अनुमति प्रदान की गई होती है। ताकि आप इस तरह के प्रोग्राम को अपनी जरूरतों के हिसाब से बदल भी सकते हैं।

Also Read: इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IOT) क्या है? What is IOT in hindi?

One thought on “Software kya hai? Or yah Kaise kaam Karta Hai?

Leave a Reply

Your email address will not be published.