Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. यात्रा गाइड
  6. /
  7. शिमला यात्रा | शिमला यात्रा की सम्पूर्ण जानकारी 

शिमला यात्रा | शिमला यात्रा की सम्पूर्ण जानकारी 

शिमला यात्रा प्लान – शिमला, जो कि हिमाचल प्रदेश की राजधानी है, इसके मौसम और नजारों ख़ासकर बर्फबारी को देखकर किसका मन नहीं होता होगा कि वो शिमला न जाए। हर कोई ही एक न एक बार शिमला जरूर जाना चाहता है, और इसके लिए हमें एक परफेक्ट प्लानिंग की जरूरत है, यानि शिमला किस सीजन में जाया जाए, वहां पर घूमने के लिए कौन कौन सी जगहों पर जाया जाए और वहां रुकने की क्या व्यवस्था होनी चाहिए। यह सब परफेक्ट प्लानिंग कर के हम अपने शिमला के ट्रिप को आसान और आनंदमय बना सकते हैं।

शिमला यात्रा
कब शिमला जाना ठीक रहेगा?

शिमला यात्रा प्लान

शिमला कैसे पहुंचे?

शिमला पहुंचने के लिए 3 माध्यम उपलब्ध हैं, फ्लाइट, ट्रेन और बाय रोड। यदि आप बाय रोड या अपनी पर्सनल गाड़ी से शिमला आते हैं तो आप आसानी से इंडिया के किसी भी कोने से शिमला आ सकते हैं। अब बात करें बाय फ्लाईट शिमला आने की तो आपको बता दें कि देश के बड़े शहरों या इंटरनेशनल एयरपोर्ट से शिमला के लिए फ्लाइट्स अवेलेबल नहीं हो पाती हैं। अब सवाल ये आता है की यदि शिमला नहीं तो पहले कहां तक फ्लाईट मिल सकती है।

तो आपको बता दें कि अगर आप किसी दूर के स्थानों जैसे मुंबई, आंध्रप्रदेश, गोवा, आदि से शिमला आ रहे हैं तो आपको पहले चंडीगढ़ एयरपोर्ट तक की फ्लाईट लेनी होगी। फिर चंडीगढ़ से आप बाय रोड शिमला जा सकते हैं। इसके लिए आपको यहां पर बहुत सी बस मिल जायेगी। हालांकि , यदि आप लोकल हैं, यानी आप पंजाब, अमृतसर, हरियाणा, आदि पास की जगहों से शिमला आते हैं तो यहां से आपको शिमला तक की डायरेक्ट फ्लाईट मिल जायेगी। इन जगहों से शिमला की दूरी लगभग 200-250 किलोमीटर है।

अब बात करते हैं बाय ट्रेन शिमला पहुंचने की। इसमें आपको 2 ऑप्शंस मिल जायेगे। पहला ऑप्शन तो यह है कि आप सबसे पहले अपने स्थान से हिमाचल प्रदेश के कालका रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। यहां से आप शिमला बाय रोड भी जा सकते हैं पर कई लोगों को गाड़ी में जाने में अनेक दिक्कतें होती हैं, तो आप अपने कंफर्ट के हिसाब से यह देख ले। कालका रेलवे स्टेशन से शिमला तक भी आपको ट्रेन उपलब्ध हो जाएगी, पर यह कोई Broad Gauge Train नहीं है यानि यह कोई Express Train नहीं है, बल्कि Meter Gauge पर चलने वाली ट्रेन है।

ट्रेन का रिजर्वेशन

इस ट्रेन की रिजर्वेशन प्रणाली भी अलग है। जैसे हम अन्य ट्रेन का रिजर्वेशन करवाते हैं जैसे स्लीपर, AC, आदि, इनकी बुकिंग की डेट लगभग 4 महीने पहले शुरू हो जाती है। पर इस ट्रेन की रिजर्वेशन ठीक 1 महीने पहले शुरू हो जाती है। यानि जैसे आप 1 सितंबर को शिमला जा रहे हैं तो आपको रिजर्वेशन 1 अगस्त को करवाना पड़ेगा। चूंकि इस ट्रेन की बुकिंग जल्दी हो जाती है, तो आपको 1 दिन भी देरी नहीं करनी चाहिए। क्यूंकि अगर आप वेटिंग मेंरिजर्वेशन करते हैं तो वो कन्फर्म नहीं हो पाता है, इस प्रकारआपको नुकसान हो सकता है।

रोमांचक बात तो यह है कि कालका से शिमला तक का सफ़र करते हुए आपको बहुत सारे अच्छे नजारे देखने को मिलेंगे। कालका से शिमला की दूरी लगभग 90 किलोमीटर है और इस ट्रेन से जाने में आपको 4-5 घंटे लग जायेगे, जबकि बाय रोड जाने पर आपको लगभग 3 घंटे लगेंगे। दूसरी तरफ आपको कालका से शिमला जाने के लिए बस या टैक्सी भी मिल जायेगी। जहां टैक्सी का कॉस्ट 2000-2500 तक है, वहां बस का कॉस्ट लगभग 150-200 रुपए पड़ेगा।

अब अगर बात करें दूसरे ऑप्शन की तो, इसके लिए सबसे पहले आपको चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन आना होगा और फिर यहां से आपको चंडीगढ़ के सेक्टर 43 बस स्टैंड, जो कि एक बहुत बड़ा बस स्टैंड है और चंडीगढ़ का मेन बस स्टैन्ड माना जाता है, जाना होगा, जो की चंडीगढ़ रेलवे स्टेशन से सेक्टर 43 बस स्टैन्ड की दूरी लगभग 18-20 किलोमीटर है। यहां से आपको शिमला के लिए डायरेक्ट बसे आसानी से मिल जायेगी। यहां से शिमला की दूरी लगभग 120 किलोमीटर है, जो कि आपकी 3-4 घंटे में पूरी हो जाएगी।

हिमाचल में रोड

ध्यान रखें कि यदि आप हिमाचल प्रदेश की सरकारी बसों से यात्रा कर रहे हैं तो इस स्थिति में आपका किराया तो कम रहेगा, पर चूंकि हिमाचल में रोड पहाड़ों को काट कर बनाई गई है तो इस कारण से इसमें बहुत कर्व मिलेंगे, जिससे कि आपको दिक्कत आ सकती है। शिमला बस स्टैंड तूतीकांडी बस स्टैंड नाम से जाना जाता है, जो कि यहां का नया बस स्टैंड है और यहां से आपको मनाली के लिए भी बस मिल जाती है। इसके साथ ही शिमला का अपना पुराना बस स्टैंड भी है। टूटी कांडी बस स्टैंड से शिमला शहर 5-6 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

किस सीजन में जाएं शिमला?

बेहतर होगा कि आप शिमला में 2 दिन ही रुकें क्योंकि शिमला में घूमने के लिए ज्यादा जगहें नहीं है और जितनी जगहें हैं आप उनको 2 दिन में कवर कर सकते हैं। 2 दिन शिमला रुकने के बाद आप यहां से मनाली निकल सकते हैं। अब देखते हैं कि शिमला में घूमने लायक कौन कौन सी जगहें हैं।
सबसे पहले आपको बता दें कि अगर आप शिमला गए हैं और आपने यहां भंडारे के खाने का स्वाद नहीं चखा, तो मज़ा नहीं है। शिमला में तारा देवी मंदिर में भंडारे का आयोजन किया जाता है, जो कि शिमला से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां भंडारे का आयोजन हफ़्ते में सिर्फ 2 दिन यानी रविवार और मंगलवार को ही होता है, तो आपको इस बात का ध्यान रखना होगा।

शिमला के प्रसिद्ध स्थान

चलिए अब आपको बताते हैं शिमला के प्रसिद्ध स्थान के बारे में जो हैं कुफरी। जो की स्नो एक्टिविटीज के लिए फेमस है, जैसे कि याक राइडिंग, हॉर्स राइडिंग, स्कीइंग, आदि। पर अगर आप अगस्त या सितंबर में शिमला जाते हैं तो आप कुफरी को अवॉइड कर सकते हैं क्योंकि इस समय पर कुफरी में बर्फ नहीं रहती है। कुफरी में बर्फ पड़ने का समय नवंबर दिसंबर और जनवरी में होता है।

शिमला में घूमने के लिए अगला स्थान है, झाकू मंदिर जो कि शिमला से ही दिखाई देने लगता है क्योंकि यहां पर बजरंग बली जी की एक खड़ी प्रतिमा है जो कि काफ़ी ऊंची है। यह शिमला से मात्र 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। मंदिर परिसर में पहुंचने के लिए पैदल मार्ग और रोपवे दोनो ही उपलब्ध हैं।

ये जगहें तो शिमला से कुछ दूरी पर स्थित हैं, पर अब बात करते हैं शिमला के ही स्थानों की। शिमला में सबसे फेमस है द मॉल रोड। ये स्थान शॉपिंग के लिए फेमस है। यहां पर आपको अनेक प्रकार का सामान जैसे हैंडलूम, हैंडक्राफ्ट, आदि मिल जायेगा।
मॉल रोड से थोड़ा आगे जाने पर द रिज एंड स्कैंडल प्वाइंट आता है। यहां से सनसेट का अद्भुत दृश्य देखने को मिलता है, साथ ही यह एक खुला स्थान है जहां पर आपको बहुत ही सुन्दर रिजॉर्ट्स और बिल्डिंग्स देखने को मिलेंगी। तो ये जगह फोटोशूट आदि के लिए भी अच्छी रहेगी।

इसके साथ ही मॉल रोड से लगा एक बाजार है जिसका नाम है लक्कड़ बाज़ार। यहां पर मिलने वाली सारी चीजें सिर्फ लकड़ी से बनी होती हैं। यहां आपको लकड़ी से बनी नई नई और अलग चीजें देखने को मिलेगी। इससे आगे जाकर आता है एडवांस स्टडी, जिसका पूरा नाम है Indian Institute Of Advance Studies और जिसे राष्ट्रपति निवास के नाम से भी जाना जाता है। यह शिमला से 4 किलोमीटर दूर है। यह एक प्रकार से एक म्यूजियम है जहां पर ब्रिटिश काल की सारी सामग्रियां दिखने को मिलती हैं। राष्ट्पति का निवास स्थान यहीं हुआ करता था। यहां की एंट्री फीस सिर्फ 50 रुपए है। तो आप यहां जाकर देख सकते हैं की किस प्रकार से इसे बनाया गया है।

बजट कितना लगेगा?

अंत में बात करते हैं शिमला के इस ट्रिप के बजट की। शिमला की ऐवरेज ट्रिप का खर्चा (रहने, घूमने और खाने का) लगभग 5000-6000 आयेगा। ध्यान रखे की यह 3- 4 लोगों के एक परिवार का खर्चा है। इसमें आपके ट्रेन वगेरह का खर्चा इनक्लूड नहीं है क्योंकि वो आपके ऊपर है की आप ट्रेन में सफर करते समय कैसी फैसिलिटीज ले रहें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.