रानीखेत कैसे पहुंचे?
x

रानीखेत कैसे जाएं? | रानीखेत कहाँ पर स्थित है?

रानीखेत कहाँ पर स्थित है? | Where is Ranikhet located?

रानीखेत छावनी परिषद उत्तराखंड राज्य के अल्मोड़ा जिले में स्थित है। रानीखेत नैनीताल से 57.6 की दूरी पर स्थित है। जोकि राष्ट्रीय राजमार्ग 109 से होकर गुजरता है। प्रशासनिक रूप से रानीखेत अल्मोड़ा जिले के पश्चिमी भाग में स्थित है, जहाँ इसी नाम की तहसील का मुख्यालय भी है। रानीखेत छावनी दो पर्वत चोटियों में फैली हुई है – पहला जिसे “रानीखेत रिज” कहा जाता है, वह 5,983 फीट (1,824 मीटर) की ऊंचाई पर स्थित है और दूसरा, “चौबटिया रिज” जो 6,942 फीट (2,116 मीटर) की ऊंचाई पर।

रानीखेत कैसे पहुंचे?
x
रानीखेत कैसे पहुंचे?

रानीखेत का तापमान और ऊंचाई? | Ranikhet temperature and altitude?

रानीखेत समुद्र तल से 6132 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। गर्मियों के समय में रानीखेत का तापमान 20 डिग्री से लेकर 30 डिग्री तक रहता है और वही जो तापमान सर्दियों में 20 डिग्री से लेकर 02 डिग्री तक चले जाता है क्योंकि सर्दियों में जब बारिश होती है तो यहां पर बर्फबारी भी होती है जिसे देखने के लिए सैलानी यहां पर काफी मात्रा में आते हैं और यहीं से होते हुए नैनीताल भी जाते हैं या नैनीताल से घूमने रानीखेत आते हैं। रानीखेत के पास में ही कैंची धाम भी पड़ता है जहां पर बाबा नीम करोली जी का आश्रम शिप्रा नदी के किनारे स्थित है। रानीखेत से कैंची धाम की दूरी 38 किलोमीटर है।

रानीखेत कैसे जाएं? | How to reach Ranikhet?

सड़क मार्ग से रानीखेत कैसे पहुंचें? (By Road) –

रानीखेत″ – रानीखेत जाने के लिए आपको सबसे पहले आपको नैनीताल पहुँचना होगा। जोकि राष्ट्रीय राजमार्ग NH 9 से होकर जाता है। यहां से आपको रानीखेत के लिए टेक्सी या प्राइवेट कार मिल जायेगी। आप चाहें तो यहाँ से प्राइवेट कार बुक करके भी आ सकते हैं। नैनीताल से रानीखेत की दूरी 57.6 किलोमीटर है, जोकि राष्ट्रीय राजमार्ग NH 109 से होकर जाता है।

ट्रेन मार्ग से रानीखेत कैसे पहुंचें? ( By Train ) –

रानीखेत के सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन काठगोदाम में स्थित है। यहां पहुँचने के बाद टैक्सी या बस की मदद से आप रानीखेत पहुँच सकते हैं। जोकि रानीखेत से 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

हवाई मार्ग से रानीखेत कैसे पहुंचें? ( By Air ) –

रानीखेत के लिए कोई हवाई अड्डा नहीं है, लेकिन अगर आप हवाई मार्ग से आना चाहते हो तो आप केवल पंतनगर एयरपोर्ट आ सकते है। पंतनगर एयरपोर्ट से आप गाड़ी या बस की मदद से रानीखेत बहुत आसानी से पहुँच सकते हो। आप चाहें तो ऋषिकेश से बाइक या स्कूटी रेंट पर भी ले सकते हैं।

पंतनगर एयरपोर्ट से रानीखेत की दूरी 109 किलोमीटर है, जोकि राष्ट्रीय राजमार्ग NH 109 से होकर जाता है। पंतनगर एयरपोर्ट से रानीखेत पहुचने में आपको कार से करीब 04 घंटे का समय लग जाता है।

रानीखेत क्यों प्रसिद्ध है? | Why is Ranikhet famous?

इस पहाड़ी शहर का मुख्य आकर्षण यहां की प्राकृतिक शांति है। रानीखेत में एक सैन्य छावनी और गोल्फ प्रेमियों के लिए एक सुंदर पार्क भी है। 1869 में ब्रिटिश सरकार रानीखेत में “कुमाऊं रेजिमेंट के मुख्यालय” की स्थापना की, और भारतीय गर्मी से बचने के लिए शहर को एक हिल स्टेशन के रूप में इस्तेमाल किया गया था।

रानीखेत किस जिले में स्थित है?

रानीखेत उत्तराखंड, कुमाऊ मण्डल के अल्मोड़ा जिले में स्थित है।

रानीखेत क्यों प्रसिद्ध है?

कुमाऊं रेजिमेंट सैन्य छावनी परिषद और गोल्फ कोर्स के लिए यह विशेष रूप से प्रसिद्ध है।

रानीखेत का निकटतम हवाई अड्डा कौन सा है?

रानीखेत का निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर है।

रानीखेत का निकटतम रेल्वे स्टेसन कौन सा है?

रानीखेत का निकटतम रेल्वे स्टेसन काठगोदाम है, जोकि रानीखेत से 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

नैनीताल से रानीखेत की दूरी कितनी है?

नैनीताल से रानीखेत की दूरी 57.6 किलोमीटर है।

पंतनगर एयरपोर्ट से रानीखेत की दूरी?

पंतनगर एयरपोर्ट से रानीखेत की दूरी 109 किलोमीटर है।

नैनीताल से रानीखेत जाने के लिए कौन सा राष्ट्रीय राजमार्ग है?

नैनीताल से रानीखेत जाने के लिए राष्ट्रीय राजमार्ग 109 है। जिसमें लगभग 02 घंटे का समय लग जाता है।

कैंची धाम किस नदी के किनारे स्थित है?

कैंची धाम शिप्रा नदी के किनारे स्थित है।

कैंची धाम का नाम कैंची धाम क्यों पड़ा?

इस स्थान का नाम कैंची मोटर मार्ग के दो तीव्र मोडों के कारण रखा गया है । इसका कैंची से कोई संबंध नहीं है।

कैंची धाम मंदिर किस को समर्पित है?

कैंची धाम मंदिर बाबा नीम करोली को समर्पित है।

कैंची धाम की स्थापना कब हुई?

15 जून 1964 को कैंची धाम की स्थापना हुई।

रानीखेत से कैंची धाम की दूरी कितने किलोमीटर है?

रानीखेत से कैंची धाम की दूरी 38 किलोमीटर है।

One thought on “रानीखेत कैसे जाएं? | रानीखेत कहाँ पर स्थित है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.