Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. मनाली से स्पीति वैली। Manali To Spiti Valley

मनाली से स्पीति वैली। Manali To Spiti Valley

आज हम आपको हिमाचल प्रदेश के स्पीति की यात्रा की सम्पूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

  • आप यहां पर कैसे पहुंचे?
  • यहां पर कहाँ रुकेंगे?
  • यात्रा में कितना खर्च आता है?
  • स्पीति में कौन-कौन सी जगह घूमने वाली है जगह हैं?
  • यहां पर एटीएम कहां कहां पर हैं और दोस्तों सबसे मोस्ट इंपोर्टेंट सवाल की स्पीति जो पिछले 11 महीने से टूरिस्ट के लिए बंद था वह कब से खुल रहा है?
  • और क्या नई गाइडलाइंस सभी टूरिस्ट को फॉलो करनी होगी यहां पर पहुंचने के लिए?
Manali To Spiti Valley
स्पीति वैली

यहां पर आप दो रास्तों से स्पीति पहुँच सकते हैं। एक तो आप दिल्ली से शिमला व शिमला से कल्पा होते हुए स्पीति पहुँच सकते हैं। दोस्तों यह रास्ता पूरे साल खुला रहता है। स्पीति पहुंचने का दूसरा रास्ता दिल्ली से ही मनाली, मनाली से स्पीति को जाता है।

लेकिन आपको बता दें कि यह मार्ग साल में सिर्फ जून के दूसरे हफ्ते से अक्टूबर आधे महीने तक ही खुला रहता है। इसके बाद यहां काफी भारी मात्रा में स्नोफॉल हो जाता है तो मेरी राय में अगर आप स्पीति का प्लान बना रहे हैं तो शिमला वाले रूट से ही जाएं जो कि पूरे साल खुला रहता है।

ध्यान देने योग्य बातें –

  • अपने आईडी कार्ड ले जाना याद रखें।
  • हर समय पासपोर्ट साथ रखें, खासकर यदि आप एक विदेशी नागरिक हैं।
  • आरामदायक जूते पहनें या साथ ले जाएं ।
  • पर्याप्त गर्म कपड़े और सामान जैसे मफलर, हाथ के दस्ताने आदि ले जाएं।
  • भरपूर कैश ले जाएं क्योंकि ज्यादातर समय एटीएम काम नहीं करते हैं।
  • सामान्य सर्दी, बुखार, जी मिचलाना, सांस की बीमारी, उल्टी और संक्रमण आदि के लिए दवा के साथ प्राथमिक चिकित्सा किट।
  • अमरजेंसी टॉर्च और कुछ बैटरी ले जाना याद रखें।
  • पर्याप्त पानी और ऊर्जा वाला भोजन जैसे एनर्जी बार और चॉकलेट आदि ले जाएं।

अब हम बात करते हैं कि हम यहां पर अब कैसे पहुंच सकते हैं? सबसे पहले हम बात करते हैं –

  1. दिल्ली से शिमला वाले मार्ग की – यह मार्ग दोस्तों जैसे हमने पहले बताया कि पूरे साल पर खुला रहता है सभी टूरिस्ट के लिए हालांकि मानसून के दौरान मानसून के दौरान लैंडस्लाइड का खतरा यहां पर थोड़ा सा बना रहता है दोस्तों यह रूट करीबन 755 किलोमीटर का है।

दिल्ली से काजा की यात्रा में मुख्य रूप से तीन चरण होते हैं। पहले चरण में आपको –

  • दिल्ली से शिमला पहुंचना होता है
  • फिर शिमला से रिकांग-पिओ पहुंचना होता है।
  • फिर रिकांग-पिओ से काजा पहुंचना होता है।

2. बाय ट्रेन – अगर बात करें बाय ट्रेन यहां पहुंचने की तो यहां पर सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है शिमला। इसके आगे की यात्रा आपको कालका शिमला रूट की टॉय ट्रेन से करनी होगी जिसकी रिजर्वेशन आप इनकी ऑफिशल वेबसाईट से कर सकते हैं। इसका किराया सीटों के हिसाब से 75 से 595 रुपए तक होता है।

मनाली से स्पीति की यात्रा के लिए आवश्यक परमिट?

  • भारतीयों के लिए – भारतीयों को रोहतांग दर्रे में प्रवेश करते समय वाहन के लिए केवल यात्रा पास की आवश्यकता होती है। यह केवल कार का ड्राइविंग लाइसेंस और पंजीकरण प्रमाण पत्र दिखा कर प्राप्त किया जा सकता है। यह परमिट बाइक सहित सभी प्रकार के वाहनों के लिए आवश्यक है।
  • विदेशी नागरिकों के लिए – सभी भारतीयों और विदेशियों के लिए आवश्यक वाहन परमिट के अलावा, विदेशी नागरिकों को खाब, समदो, धनखड़, ताबो, गोम्पा, काज़ा, मोरंग और डबलिंग जैसी जगहों पर जाने के लिए इनर लाइन परमिट की भी आवश्यकता होती है। बिना इनर लाइन परमिट के जिन स्थानों पर जाया जा सकता है उनमें कल्पा, सांगला घाटी और चितकुल शामिल हैं। इनर लाइन परमिट केलांग में डीसी कार्यालय में प्राप्त किया जा सकता है जो लाहौल और स्पीति का जिला मुख्यालय है।

मनाली से स्पीति के बीच मार्ग पर यात्रा करने के लिए सबसे अच्छे वाहन चट्टानी इलाका होने के कारण SUV 300, SUV 500, Scorpio, Thar आदि माने जाते हैं। या आप टैक्सी या कैब ले सकते हैं। आप रास्ते में बाइक की सवारी भी कर सकते हैं जो यात्रा को और अधिक रोमांचक बनाता है। जाहिर है, सबसे सुविधाजनक तरीका एचआरटीसी की बसों में यात्रा करना है जो मनाली और स्पीति के बीच हर रोज चलती हैं।

स्पीति का नजदीकी एअरपोर्ट?

अब अगर बात करें हवाई जहाज से सफर करने की तो यहां पर सबसे नजदीकी एअरपोर्ट शिमला में स्थित है और मॉल रोड से लगभग 22 किलोमीटर दूर है। पर यह कुछ साल पहले बंद हो गया था इसकी वजह से दिल्ली या अन्य स्थानों से हवाई यात्रा करना मुश्किल होगा। आप चाहें तो पहले चंडीगढ़ एअरपोर्ट पहुंचकर आगे की यात्रा सड़क मार्ग से भी कर सकते हैं।

सड़क मार्ग से स्पीति कैसे पहुचें?

इसके बाद अगर बात करें सड़क मार्ग की जिससे कि सबसे ज्यादा यात्री सफर करते हैं। इसमें आप बस से दिल्ली से शिमला और फिर यहां से नारकंडा होते हुए रिकांगपियो और फिर काजा पहुंच सकते हैं। दिल्ली से काजा तक का सफर तय करने में आपको 3 से 4 दिन तक का समय लग जायेगा। दिल्ली से शिमला तक का किराया लगभग 530 रुपए तक होता है जिसका रिजर्वेशन आप HRTC की वेबसाईट से कर सकते हैं।

key monastery
key monastery

इसके बाद रिकांगपियो पहुंचकर अगर आप रिकांगपियों या किन्नौर को एक्सप्लोर करना चाहते हैं तो आप यहां 2 से 3 दिन स्टे करके किन्नौर, सांगला, कल्पा और इंडियन तिब्बत बॉर्डर पर स्थित आखिरी गांव चिपकुल घूम सकते हैं। इसके बाद आप काजा के लिए रवाना हो सकते हैं। जहां रिकांगपियो से पहुंचने में 10 से 11 घण्टे का समय लग जाता है।

पर केवल एक ही बस उपल्ब्ध होती है जिसे काजा बस के नाम से जाना जाता है और यह सुबह 6 बजे रिकांगपियो से निकलती है और शाम के 5 बजे तक काजा पहुंच जाती है। इसका किराया लगभग 650 रुपए प्रति व्यक्ति होता है।

स्पीति यात्रा का दूसरा मार्ग?

स्पीति यात्रा का दूसरा मार्ग है दिल्ली-मनाली स्पीति। ये मार्ग साल भर नही खुला रहता है। यह सिर्फ जून से अक्टूबर के बीच ही यात्रियों के लिए खुला रहता है। इसके अलावा भारी स्नोफॉल के कारण ये मार्ग बंद ही रहता है। दिल्ली से मनाली के लिए आपको आसानी से बस मिल जाती है जिसका किराया लगभग 750 रुपए प्रति व्यक्ति तक होता है।

इसके बाद मनाली से काजा तक HRTC की बस आपको मिल जायेंगी। यहां से काजा तक 1 बस जाती है जो की सुबह 5 बजे निकलती है। इसका किराया लगभग 450 रुपए तक होता है और ये 10 से 11 घण्टे में काजा पहुंच जाती है।

जब यह मार्ग शुरुआत में खोला जाता है तो यहां पर बस रेगुलरली नही मिल पाती हैं, उस समय यहां पर आपको टैक्सी मिल जायेगी जिसका किराया लगभग 700 रुपए तक होता है। अब अगर बात करें बाय ट्रेन वाले मार्ग की तो यहां पर कोई रेलवे मार्ग नहीं है। ट्रैन से सफ़र बस चंडीगढ तक ही किया जा सकता है। इसके बाद का सफर आपको बस से ही तय करना होगा। चंडीगढ़ से मनाली तक का किराया लगभग 650 रुपए प्रति व्यक्ति है। अब यदि बात करें हवाई मार्ग की तो निकटतम हवाई अड्डा मनाली से लगभग 52 किलोमीटर दूर स्थित है।

एचआरटीसी बसों का समय?

मनाली-काजा रूट पर रोजाना दो बसें चलती हैं। पहला सुबह 5:00 बजे और दूसरा शाम 5:30 बजे। वे शाम 4:00 बजे काज़ा पहुँचते हैं।

एचआरटीसी बसों का टिकट किराया?

इन बसों का शुरुआती किराया 310 रुपये से शुरू होता है।

काजा और रिकांगपीयो में ATM की सुविधा?

वैसे तो काजा और रिकांगपीयो में ATM सुविधा आपको मिल जाएंगे पर सुविधा के लिए आपको बता दे कि आप कैश विड्रॉल शिमला या मनाली में ही कर ले क्योंकि हो सकता है इस समय वहां पर आपको दिक्कत हो।

स्पीति वैली में कहां रूके?

स्पीति वैली में सभी गांव में होटल वगैरा की अच्छे व्यवस्थाएं हैं लेकिन मेरी राय माने तो आप यहां पर होमस्टे में ही रुके आप होमस्टे में रुके उससे आपको यहां की संस्कृति को ज्यादा करीब से देख सकते हैं होमस्टे का किराया यहां ₹100 से लेकर 12 ₹100 के बीच में तक होता है।यहां पर कुछ मॉनेस्ट्रीज भी होती हैं जिनमें भी आपको रुकने की व्यवस्था होती है।

स्पीति में घूमने की जगह?

अब दोस्तों आपको बताते हैं कि अगर आप यहां पर आए हैं तो यहां पर कहां-कहां घूम सकते हैं?

places visit in spiti
स्पीति में घूमने की जगहें

ताबो गांव (Tabo village) :

सबसे पहले हम बात करें तो जब हम रिकाम-पिओ से काजा की ओर निकलते हैं तो बीच में एक गांव पड़ता है ताबो गांव। यहां पर एक मोनेस्ट्री है जो कि काफी प्राचीन है और दोस्तों यह सभी मॉनेस्ट्री से अलग इसलिए है कि क्योंकि यह मॉनेस्ट्रीज रेगिस्तान में बनी हुई है इसे हिमालय के अजंता भी कहा जाता है यहां एक दिन रुक कर एक्सप्लोर करके काजा के लिए भी आप अगले दिन निकल सकते हैं।

किब्बर गांव (Kibber Village) :

अब आप यहीं से किब्बर गांव जो कि वहां पर बहुत ही फेमस गांव है लेपर्ड स्नो कॉपर को यहां पर देखने के लिए लोग आते हैं। बहुत दिनों तक रुके रहते हैं। किब्बर को एक्सप्लोरर करिए। यहां पर चिचम ब्रिज भी बहुत फेमस है जो कि एशिया के सबसे ऊंचाई पर बना हुआ शसपेनसन ब्रिज है। जो करीबन 14000 फिट पर यह ब्रिज बना हुआ है।

पिन वैली (pin valley) :

इसके बाद आप पिन वैली भी जा सकते हैं काजा से। जोकि दोस्तों पिन वैली जाने के लिए आपको करीबन 35 किलोमीटर एक निखिम पड़ेगा वह जाना पड़ेगा कैब या जीप वागेरा से और फिर थोड़ा सा वहा से ट्रेक करके फिर पिन वैली जा सकते हैं।

चंद्रताल झील (Chandratal Lake) :

अंत में आप चंद्रताल झील जरूर जाएं। यह एक बहुत ही खूबसूरत झील है। आप यहां जा सकते हैं जब आप मनाली के लिए वापसी में निकल रहे हो तो। एक डायवर्जन पॉइंट आता है चंद्रताल लेक के लिए तो आप वहां पर उतर करके ट्रैक करके आगे जा सकते हैं।

स्पीति जाने में कुल कितना खर्चा आएगा?

दोस्तों जिस रोड से मैंने बताया अगर आप इस रूट का प्रयोग करते हैं तो और साधारण बसों से सफर करते हैं तो फिर भी आपका लगभग खर्चा 700 से लेकर 1000 प्रतिदिन का हो जाता है यह आपको डिसाइड करना है कि आप कितने दिन का ट्रिप प्लान कर रहे हैं उस हिसाब से आप अपने खर्चे का अंदाजा लगा सकते हैं।

मनाली से स्पीति वैली की दूरी कितनी है?

मनाली से स्पीति वैली की दूरी 202 किलोमीटर है।

कुल्लू से मनाली की दूरी कितनी है?

कुल्लू से मनाली की दूरी 41 किलोमीटर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.