Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. भारत यात्रा
  6. /
  7. सोमनाथ मंदिर कैसे पहुंचे? संपूर्ण जानकारी

सोमनाथ मंदिर कैसे पहुंचे? संपूर्ण जानकारी

सोमनाथ मंदिर एक परिचय – आज हम गुजरात के सौराष्ट्र में स्थित सोमनाथ मंदिर जो की भारत के बारह ज्योतिर्लिंगों में से पहला ज्योतिर्लिंग है, की यात्रा की आपको सम्पूर्ण जानकारी देंगे कि आपको यहां कैसे जाना है, कब जाना है, वहां रहने की क्या व्यव्स्था होगी, और कहां कहां घूमना चाहिए और इस यात्रा का कुल खर्चा कितना आयेगा।

सोमनाथ मंदिर कैसे पहुंचे?
सोमनाथ कैसे पहुंचे?

सोमनाथ मंदिर कैसे पहुंचे?

सोमनाथ की यात्रा के लिए आपको तीन विकल्प मिलते हैं बाय ट्रेन, बाय रोड और बाय फ्लाईट। अगर आप ट्रेन के जरिए सोमनाथ यात्रा कर रहे हैं तो आपको सबसे नज़दीक रेलवे स्टेशन सोमनाथ ही होगा जो कि मंदिर परिसर से लगभग आधे किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। पर हो सकता है आप जिस शहर से आ रहे हैं वहां से आपको सोमनाथ तक की ट्रेन न मिले।

इस स्थिति में आप वेरावल रेलवे स्टेशन आ सकते हैं जो की सोमनाथ से लगभग 7 किलोमीटर दूर है। यहां से आप फिर बाय रोड सोमनाथ पहुंच सकते हैं, जिसमे आपके पास 2 विकल्प होगे। पहला विकल्प है कि आप ऑटो से सोमनाथ जाएं जो की आपसे 50 रुपए प्रति व्यक्ति किराया लेगा। दूसरा विकल्प है बस। यहां से सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट की ओर से आपको फ्री बस सर्विस भी दी जाती है जो कि आपको हर आधे घंटे में मिल जायेगी।

सौराष्ट्र में स्थित सोमनाथ बाय रोड कैसे पहुंचे?

अगर आप बाय रोड सोमनाथ आना चाहते हैं तो आपको राजकोट अहमदाबाद से सोमनाथ तक की बहुत सी बस मिल जायेगी। इसके अलावा अगर आप अपनी पर्सनल गाड़ी से आ रहे हैं तो आप वेरावल होते हुए भी आप सोमनाथ आ सकते हैं।

दूसरी तरफ अगर आप बाय फ्लाईट सोमनाथ आना चाहते हैं तो सोमनाथ से सबसे नज़दीक एयरपोर्ट है केशोद एयरपोर्ट, जो की सोमनाथ से लगभग 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। और अगर आपको केशोद तक की फ्लाईट नही मिलती है तो फिर आप दिउ एयरपोर्ट आ सकते हैं। यहां से सोमनाथ मंदिर की दूरी लगभग 85 किलोमीटर है।

सोमनाथ में रुकने की व्यवस्था कैसे होगी?

सोमनाथ में रुकने के लिए भी आपको यहां पर 3 ऑप्शन मिलते हैं। पहला विकल्प है धर्मशाला। मंदिर के आस पास आपको बहुत सारी धर्मशाला मिल जायेंगी। यहां पर आपको रूम भी काफ़ी सस्ते दामों जैसे 100, 200, 300 रुपए तक में मिल जायेंगे।

दूसरा विकल्प है सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट का गेस्ट हाउस। यहां पर आप रूम की ऑनलाइन बुकिंग मंदिर ट्रस्ट की ऑफिशियल वेबसाइट www.somnath.org से करवा सकते हैं। यहां पर रुम की कॉस्ट लगभग 700 रुपए नॉन एसी रूम की और 1100 रुपए एसी रूम की होगी।

तीसरा विकल्प है प्राईवेट होटल्स जो कि आपको मंदिर परिसर के पास ही मिल जायेंगे, जिनमे रुम का किराया लगभग 700-1500 रुपए तक होता है।

सोमनाथ मंदिर में दर्शन करने की प्रक्रिया क्या है?

सोमनाथ मंदिर में दर्शन करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। जैसे कि वहां पर किसी भी प्रकार का मोबाइल, कैमरा, बेल्ट, और अगर आप अपनी पर्सनल गाड़ी से आए हैं तो उसकी चाभी, आदि चीज मंदिर में ले जाने की अनुमति नहीं है। इसके लिए मंदिर परिसर में ही आपको लॉकर व्यवस्था मिल जायेगी जहां पर आप अपना सामान रख सकते हैं।

अगर आप मंदिर में भोले बाबा की आरती में सम्मिलित होते हैं तो अति उत्तम होगा क्योंकि यहां पर आरती में सम्मिलित होने वाले को बहुत ही सौभाग्यशाली माना जाता है। यहां पर दिन में 3 समय पर आरती होती है सुबह के 7 बजे, दिन के 12 बजे और शाम के 7 बजे। गर्भगृह के दर्शन के लिए आपको लाइन में लगना होगा। गभग्रह में आपको सोने की चादर से लिपटे भोलेनाथ के शिवलिंग के दर्शन करने को मिलेंगे।

सोमनाथ में खाने-पीने की व्यवस्था क्या होगी?

सोमनाथ में खाने पीने के लिए आपके पास 2 विकल्प होते हैं। पहला तो ये की मंदिर परिसर के पास में ही सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट का भोजनालय स्थित है। यहां पर खाने की थाली का कॉस्ट लगभग 70 रुपए है, जिसमे आप भर पेट भोजन कर सकते हैं। ये भोजनलय 2 टाइम स्लॉट्स में चलता है दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक और शाम 7 बजे से रात के 9:30 बजे तक। साथ ही मंदिर ट्रस्ट का एक और भोजनालय है जिसका नाम है लीलावती धर्मशाला, जहां आपको बहुत बड़ा डाइनिंग हॉल मिलेगा । यहां पर आपको थाली का कॉस्ट लगभग 120 रुपए तक मिलेगा।

दूसरा विकल्प है प्राईवेट होटल्स या रेस्टुरेंट। आपको सोमनाथ में बहुत सारे होटल या रेस्टुरेंट मिल जायेंगे। यहां पर थाली का कॉस्ट लगभग 80-100 रूपये तक होता है।

सोमनाथ में और कहां-कहां घूमना चाहिए?

ज्योतिर्लिंग का मंदिर

अगर बात करें सोमनाथ में और कहा घूमा जा सकता है तो पहला स्थान है सोमनाथ मंदिर के पीछे की तरफ बना पुराने ज्योतिर्लिंग का मंदिर, जो कि अहिल्या बाई द्वारा स्थापित किया गया था। यहां पर भी आप भोले बाबा की दर्शन कर सकते हैं।

शारदा मठ

अगला स्थान है शारदा मठ। गोलोक धाम तीर्थ की तरह यहां पर भी अनेक मंदिर स्थित हैं, जिनके आप दर्शन कर सकते हैं। साथ ही यहां पर आपको बारह ज्योतिर्लिंगों के दर्शन भी करने को मिलते हैं।

भालका तीर्थ

अगला स्थान है भालका तीर्थ। यहां पर श्री कृष्ण जी की एक मूर्ति है। जब जारा नामक शिकारी ने श्री कृष्ण के पैरो पर तीर मारा था तो जिस अवस्था में श्री कृष्ण की मृत्यु हुई थी उसी अवस्था में इस मूर्ति को बनाया गया है।

बाणगंगा

भालका तीर्थ से ही लगा एक स्थान है बाणगंगा। यहां पर समुद्र में शिवजी का प्राकृतिक ज्योर्तिलिंग स्थित है। यहां पर समुद्र की लहरें काफ़ी तेज़ होती है तो आपको थोड़ा सावधानी बरतनी होगी।

अंत में बात करें कि इन सभी स्थानों में घूमने का माध्यम क्या होगा तो यहां पर आप ऑटो बुक करके इन सभी स्थानों में घूम सकते हैं। ये सभी स्थान सोमनाथ मंदिर से लगभग 5 किलोमीटर के अंदर ही स्थित है। इन सभी स्थानों में घूमने और वापस छोड़ने के लिए ऑटो ड्राईवर आपसे लगभग 400-500 रुपए तक किराया लेगा।
यहां पर घूमने के साधन में आपको दूसरा विकल्प भी मिल जायेगा जो है बस। बस में आपको इन सभी स्थानों में घूमने का किराया 30-50 रुपए तक लगेगा।

सोमनाथ जाने का सबसे अच्छा समय कौन सा रहेगा?

अगर आप सोमनाथ जाते हैं तो आपके लिए वहां पर घूमने के लिए एक दिन काफ़ी होगा। और सोमनाथ जाने का सबसे सही समय होगा विंटर सीजन यानि नवंबर से फरवरी तक का समय। अगर आप भीड़ भाड़ से बचना चाहते हैं तो आपके लिए यह समय ही सबसे सही होगा क्योंकि सावन या महाशिवरात्रि और दशहरे के समय यहां पर आपको बहुत ज्यादा भीड़ देखने को मिलेंगी।

सोमनाथ ट्रिप का कुल खर्चा कितना होगा?

अगर बात करे सोमनाथ मंदिर और इसकी आसपद की जगहों पर घूमने, यहां पर ठहरने और खाने पीने के खर्चे की तो यदि आप मंदिर ट्रस्ट के रुम में स्टे लेते हैं और यहां के भोजनालय में खाना खाते हैं तो आपका कुल खर्चा लगभग 1000 रुपए प्रति व्यक्ति तक होगा। वहीं अगर आप किसी प्राईवेट होटल्स में स्टे लेते हैं तो आपका कुल खर्चा लगभग 1500-2000 रुपए तक होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.