Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. लेह लद्दाख कैसे पहुंचे? | गाड़ी परमिट | कुल खर्चा

लेह लद्दाख कैसे पहुंचे? | गाड़ी परमिट | कुल खर्चा

इस लेख में हम आपको सम्पूर्ण जानकारी देंगे कि आप लेह लद्दाख कैसे पहुंचे, कहां रुकें , कब जाएं, कितने दिन का ट्रिप प्लान किया जाए और इस यात्रा का कुल खर्चा कितना आयेगा।
सबसे पहले आपको बता दें कि लेह लद्दाख जाने के लिए आपको सिर्फ 5 से 6 महीने यानी मई से अक्टूबर तक का ही समय मिलता है। अक्टूबर के बाद यहां पर भारी बर्फबारी के कारण लेह लद्दाख के मार्ग को बंद कर दिया जाता है।

वैसे तो यहां का मार्ग 15 मई के बाद खोला जाता है पर यहां जाने का सबसे सही समय जून जुलाई का होता है। इसके बाद मानसून में लैंडस्लाइड होने का खतरा बना रहता है तथा अगस्त सितंबर के समय भी स्नोफॉल होने की संभावना रहती है।

leh ladakh kaise jaye
leh ladakh kaise jaye

लेह लद्दाख में घूमने के लिए क्या हैं नियम?

जो लोग लद्दाख घूमने जा रहे हैं, उनके पास कोई वैध पहचान पत्र होना चाहिए। अगर कोई विदेशी सैलानी है तो उसे प्रोटेक्टेड एरिया परमिट लेकर ही घूमने जाना होगा। यह ध्यान रखना होगा कि इनर लाइन परमिट व्यवस्था खत्म होने से कहीं और कभी भी घूमने नहीं जा सकते। लद्दाख प्रशासन सरहदी इलाकों में पड़ने वाले ‘जीरो किलोमीटर’ गांवों के लिए अलग से नियम जारी करेगा। इन इलाकों में टूरिस्ट को जाने की इजाजत नहीं होगी। गृह मंत्रालय ने इन इलाकों के लिए एक लिस्ट तैयार करने का निर्देश दिया है जो पुलिस और सेना मिलकर बनाएंगे।

लद्दाख जाने का बेस्ट समय?

लद्दाख में टूरिस्ट सीजन अप्रैल से शुरू होता है जो अगस्त तक चलता है ये सीजन लद्दाख में समर सीजन होता है इसलिए अधिकतर पर्यटक इस सीजन में लद्दाख आते हैं। लेकिन कुछ लोगों को विंटर सीजन भी पसंद है जब ज्यादा पर्यटक बहुत कम होते हैं और लद्दाख का परिदृश्य पूरी तरह से बदल जाता है। लद्दाख की नदी चादर ट्रैक में बदल जाती है जिसपर ट्रैकिंग का एक अलग ही अनुभव होता है। इस दौरान काफी ठंड होती है और पूरा इलाका बर्फ से ढका होता है।

लेह लद्दाख जाने का मार्ग और साधन?

लेह लद्दाख जाने के 2 रास्ते हैं, पहला तो मनाली से स्पीति बाय पास होते हुए लेह का मार्ग जिसकी कुल दूरी लगभग 450 किलोमीटर है और दूसरा है श्रीनगर से कारगिल होते हुए लेह जाने का मार्ग जिसकी कुल दूरी लगभग 420 किलो मीटर है।

लद्दाख कैसे पहुंचे?

सड़कमार्ग-

लद्दाख तक आप सड़कमार्ग के जरिए जा सकते हैं लद्दाख तक जाने के लिए दो रूट निकलते हैं पहला श्रीनगर से लेह और दूसरा मनाली से लेह। श्रीनगर से लद्दाख जोजिला पास से होकर गुजरते हैं जबकि मनाली से लद्दाख रोहतांग पास से होकर पहुंचते हैं। कई लोग लद्दाख तक अपनी बाइक से भी सफर करते हैं कुछ कार से तो कुछ बस से भी लद्दाख जाते हैं। जम्मू, श्रीनगर और दिल्ली से लद्दाख के लिए सीधी बस चलती है। जम्मू कश्मीर स्टेट ट्रांसपोर्ट और हिमाचल प्रदेश ट्रांसपोर्ट की बसें लेह तक जाती हैं।

दिल्ली से लद्दाख बस से पहुंचने में करीब 4 दिन का समय लगता है जो काफी थकाऊ और मुश्किल होता है। अगर आप बाइक या कार से लद्दाख जाने के बारे में सोच रहे हैं तो बाइक की टंकी फुल करके चलें क्योंकि रास्ते में बहुत कम पेट्रोल पंप हैं और अगर हैं भी तो उनके चालू होने का कोई समय नहीं है।

रेलमार्ग-

लद्दाख से करीबी रेलवे स्टेशन जम्मू तवी है जो लद्दाख से करीब 700 किलोमीटर दूर है। इससे आगे का सफर आपको टैक्सी या बस से करना होगा। जम्मू तवी से लद्दाख पहुंचने में करीब दो दिन लगते हैं और टैक्सी का किराया भी करीब 9-10 हजार रुपए होता है।

वायुमार्ग-

हवाई जहाज के जरिए लद्दाख पहुंचना सबसे अच्छा तरीका है। यह आसान और सुगम भी है। देश के प्रमुख शहरों से लेह तक डायरेक्ट फ्लाइट सेवा उपलब्ध हैं। सर्दियों और गर्मियों की फ्लाइट की टाइमिंग में अंतर हो सकता है जो मौसम के मुताबिक तय होता है। लेह कुशोक बकुला रिमपोची एयरपोर्ट यहां का मुख्य एयरपोर्ट है। लेह एयरपोर्ट एक मिलिट्री एयरपोर्ट है इसलिए यहां सुरक्षा जांच दूसरे एयरपोर्ट के मुकाबले सख्त होती है।

दिल्ली से लेह लद्दाख जाने के लिए गाड़ी बस और फ्लाइट का किराया?

हवाई सेवा की बात करें तो एयर इंडिया, गो फर्स्ट, इंडिगो, विस्तारा और स्पाइसजेट की फ्लाइट दिल्ली से लद्दाख के लिए उड़ान भरती हैं। फ्लाइट का किराया 2100 से लेकर 3200 रुपये तक है। बस का किराया देखें तो अधिकतम 1500 रुपये तक हो सकता है।

लेह लद्दाख ट्रिप प्लान कितने दिन का बनायें?

अगर आप अपनी कार से जा रहे हैं तो आपको लगभग 8 दिन, और अगर बुलेट आदि से जा रहे हैं तो आपको लगभग 10 दिन का ट्रिप बनाना पड़ेगा। अगर आप अपने निजी वाहन से आते हैं तो आपको किसी भी तरह की दिक्कत नहीं होगी और आप चाहें तो आपको बुलेट भी रेंट पर मिल जायेगी जिसका मनाली में एक दिन का किराया लगभग 1300 रूपए (हिमालयन बुलेट का 1600) तक पड़ेगा।

लेह लद्दाख ट्रिप के दौरान किन चीजों की आवश्यकता पड़ेगी?

अब बात करें कि बुलेट से जाते हुए हमें क्या क्या सामान कैरी करना होगा। सबसे पहले सबसे जरूरी सामान है जेरी कैन, क्योंकि आपको आगे जाकर कोई भी पेट्रोल पंप नही मिलेगा तो आपको कम से कम 10 लीटर पेट्रोल कैरी करना होगा। दूसरा सामान है हेलमेट, जो कि बहुत आवश्यक है , क्योंकि यहां पर रास्ते बहुत उतार चढ़ाव वाले हैं। इसके साथ ही आप सेफ्टी गार्ड्स भी पहन लें जैसे कि नी और एल्बो गार्ड।

आपकी गाड़ी ट्यूबलेस टायर्स वाली हो तो बेहतर होगा और साथ ही टूल किट भी अपने साथ ही रखें। इसके अलावा आप एक वॉटर प्रूफ बैग व रेन कोट और कुछ गर्म कपड़े भी कैरी करें क्योंकि यहां पर बारिश की संभावना बनी रहती है जिससे ठंड भी बड़ जाती है। जैसा कि ये ट्रिप 8-10 दिन की होती है तो आपको एक पोस्टपेड sim भी अपने पास रखना चाहिए ताकि आप अपने परिवार वालों के संपर्क में रह सकें।

लेह लद्दाख ट्रिप के लिए गाड़ी का परमिट कैसे मिलेगा?

आपको बता दे कि अगर आप लेह लद्दाख घूमने जा रहे हैं तो आपको परमिट लेना आवश्यक होता है। आप अपनी गाड़ी का परमिट ऑनलाइन www.lahdclehpermit.in वेबसाइट से निकलवा सकते हैं जिसका कॉस्ट आपको लगभग 800-850 रुपए तक पड़ेगा। साथ ही आप ऑफलाइन परमिट DM ऑफिस लेह से निकलवा सकते हैं।

अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि क्या आपको एक ही परमिट बनवाना पड़ेगा या किसी और परमिट की भी जरूरत होती है। अगर आप मनाली से रोहतांग होते हुए जाते हैं तो आपको सिर्फ एक ही परमिट की जरूरत पड़ेगी। पर हम आपको सलाह देगे कि आप रोहतांग से जाने के बजाय अटल टनल से होकर जाएं , यहां से जाने पर आपको किसी भी परमिट लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके साथ ही श्रीनगर वाले रास्ते से जाने पर भी आपको किसी भी परमिट की जरूरत नहीं पड़ेगी , केवल आपको लेह में ही परमिट लेना पड़ेगा।

फोर व्हीलर से जानें पर किन बातों का ख्याल रखना चाहिए।

अगर आपकी अपनी पर्सनल गाड़ी है तो हम आपको एक ही सजेशन देंगे कि आप एक अच्छी ग्राउंड क्लियरेंस वाली गाड़ी से ही लेह लद्दाख की यात्रा करें, क्योंकि वहां पर रास्ते में बड़े बड़े पत्थर नदी पुल आदि रास्ते पार करने होते हैं। अगर आपके पास अपनी पर्सनल गाड़ी नहीं है तो आप मनाली या श्रीनगर से कार हायर कर सकते हैं।

लेह लद्दाख में रुकने और खाने पीने की व्यवस्था ?

अब बात करते हैं कि लेह लद्दाख की यात्रा में रुकने की क्या व्यवस्था होगी। आपका यहां जगह जगह होटल, रेस्टुरेंट, टेंट आदि मिल जायेगे जहा आप स्टे ले सकते हैं। आपको बता दें कि टेंट (1500 से 2000 रुपए प्रति व्यक्ति) के मुकाबले में आपको होटल (1500 से 2000 रुपए दो से तीन व्यक्ति ) ज्यादा सस्ता पड़ेगा। साथ ही आपको यहां पर गेस्ट हाउस भी मिल जायेगे जहां पर रुकने का किराया लगभग 500 रुपए से शुरू होगा।

अब अगर बात करें खाने पीने की तो यहां पर आपको खाना थोड़ा महंगा पड़ सकता है, क्योंकि यहां के लोग इसी जरिए 5 से 6 महीने अपना कारोबार कर पाते हैं। यहां पर आपको 1 टाइम का खाना लगभग 200 रुपए तक मिलेगा यानी एक पूरे दिन में आपके खाने पीने का खर्चा लगभग 700 से 800 रुपए तक आयेगा।

लेह लद्दाख में कितने दिन का स्टे प्लान करें?

पहला दिन –

आपको लेह लद्दाख में लगभग 3 दिन का स्टे प्लान तो कर ही लेना चाहिए। स्टे के पहले दिन आप यहां के लेह पैलेस,मॉनेस्ट्री आदि को विजिट करना चाहिए और साथ ही अगर आप शॉपिंग में इंटरेस्ट रखते हैं तो यहां पर आप शॉपिंग भी कर सकते हैं।

दूसरा दिन –

दूसरे दिन आपको पैंगोंग लेक विजिट करना चाहिए। इसके लिए आपको परमिट की जरूरत पड़ती है। अगर आप लोकल टैक्सी से वहां जाते हैं तो वे लोग खुद आपको परमिट प्रोवाइड करवा देते हैं और आप चाहें तो DM ऑफिस या किसी एजेंट की मदद लेकर भी परमिट ले सकते हैं। पैंगोंग लेक में आपको बहुत ही सुंदर नज़ारा देखने को मिलेगा। अगर आप फ़ोटोशूट में इंटरेस्ट रखते हैं तो ये जगह आपके लिए बेस्ट रहेगी।

तीसरा दिन –

तीसरे दिन आपको नुब्रा वैली विजिट करना चाहिए। यहां के लिए आपको किसी भी परमिट की जरूरत नहीं पड़ेगी। यहां भी आपको अति मनमोहक दृश्य देखने को मिलेगा जिसे आप पूरे दिन एक्सप्लोर कर सकते हैं। और इसके अगले दिन ही आप वहां से वापस रवाना हो सकते हैं।

लेह लद्दाख ट्रिप में कुल कितना खर्चा आएगा?

अब हम जानते हैं कि बाइक या कार से जाने रहने खाने पीने आदि का कुल खर्चा कितना आयेगा। अगर आप बाइक से जाते हैं तो पर हेड आपका कुल खर्चा लगभग 20000 रुपए तक पड़ जाएगा। अगर आप अपनी पर्सनल गाड़ी से आ रहे हैं तो आपके पेट्रोल , रुकने, खाने पीने और परमिट का कुल खर्चा मिला के देखें तो यह लगभग 12000 से 15000 प्रति व्यक्ति तक होगा। क्योंकि इससे आपको ट्रांसपोर्ट का काफी खर्चा बच जाता है और एक ही साथ 3 से 4 लोग सफर करते हैं।

इसके बाद बात करे पैकेज की यानी आपके पास यदि कार और बाइक दोनो ही नहीं है तो आपका कुल खर्चा लगभग 25000 से 30000 रूपए प्रति व्यक्ति तक आयेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.