Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. उत्तराखंड पर्यटन
  6. /
  7. क्या उत्तराखंड एक विकसित राज्य है?

क्या उत्तराखंड एक विकसित राज्य है?

नमस्कार दोस्तों मेरा नाम राजेंद्र सिंह हैं। ओर मे उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग का रहने वाला हूँ और इस वेबसाइट के माद्यम से आपको में उत्तराखंड से जुडी नई-नई जानकारी लाता रहता हूँ। और आज में आपको बताने वाला हूँ की क्या उत्तराखंड एक विकसित राज्य है? चलिए शुरू करते हैं और अगर आपका कोई सुझाव या सवाल है तो मुझे कमेंट में जरूर बताइए।

क्या उत्तराखंड विकसित है?

हम पूरी तरफ से नहीं कह सकते है की उत्तराखंड विकसित है, क्योंकि उत्तराखंड मे अभी तक बहुत सारी जगह व गावं ऐसे भी है जहां अभी तक बेसिक सुविधाई नहीं गई है जैसे की परिवहन के लिए सड़क मार्ग और बिजली पानी आदि। जो की उत्तराखंड को विकसित ना होने का एक बड़ा कारण है। जैसे की आपको पता ही होगा। उत्तराखंड आपदाओं से घिरा हुवा रहंता है। जिससे यह हर साल बहुत ज्यादा जान माल का नुकसान होता रहता है। इसकी एक और वजह यह की सरकार भी है। जो की उत्तराखंड के लिए सही अच्छी सबित नहीं हुई। यह सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी की है। अगर यह समस्या सरकार समाप्त कर दे तो बहुत सारे परिवर्तन देखने को मिलेगा।

नई टिहरी, उत्तराखंड
नई टिहरी, उत्तराखंड

क्या उत्तराखंड विकसित नहीं है?

अभी के समय में उत्तराखंड के लोगो और विकास के आधार पर हम यह कह सकते है की उत्तराखंड विकसित नहीं है। क्योकि उत्तराखंड के अधिकांश युवा पीढ़ी बेरोजगार है। जिन्हे अपने घर चलने के लिए रोजगार की तलाश में दूर कहीं दुसरे राज्य या देश में जाते है। जहा लोग अपनी जरूरत की पूर्ति के लिए पलायन कर रहा है तो इससे यह बात साबित होती है की उत्तराखंड विकसित नहीं है।

भविष्य में उत्तराखंड बाढ़ जैसी आपदाओं से बचने के लिए भारत सरकार को क्या उपाय करने चाहिए?

उत्तराखंड के बारे में

उत्तराखंड का गठन वर्ष 2000 में हुआ था और इसने अच्छी प्रगति की है। उत्तराखंड नेपाल और चीन जैसी सीमाओं से जुड़ा हुआ है। इसलिए, प्रमुख क्षेत्र विकसित किया जाना है परिवहन है जो वास्तव में हाल के दिनों में सुधार किया गया है।

जहां तक विकसित की बात है तो यह एक व्यक्तिगत दृष्टिकोण का विषय है क्योंकि उत्तराखंड ईश्वर की भूमि है और केवल एक पर्यटन स्थल है। इसलिए, हम इसे मेट्रो शहरों की तरह विकसित के रूप में वर्गीकृत नहीं कर सकते हैं, जहां लोग काम करते हैं और अपने जीवन स्तर का विकास करते हैं, महंगे घर, कार खरीदते हैं और समाज के पालन-पोषण के लिए निरंतर विकास हो रहा है।

हालाँकि, पहाड़ियों या उत्तराखंड में, हमारे पवित्र धार्मिक स्थानों जैसे पर्यटन के दृष्टिकोण से चीजें बेहतर हो रही हैं; केदारनाथ, बद्रीनाथ आदि इन सभी का विकास हुआ है।

अगर हम विकास के नाम पर पहाड़ियों को नष्ट करने की कोशिश करेंगे तो इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। इसलिए, हमें इन विशाल पहाड़ियों को ऐसे ही रहने देना चाहिए और सुंदरता का आनंद लेना चाहिए।

गाँव के क्षेत्रों में इतना खास नहीं, आज ही स्कूल, सड़क और अस्पताल आदि की अच्छी सुविधा नहीं है। लेकिन हां ऑल वेदर चार धाम रोड के कारण यह अच्छी गति से विकसित हो रहा है।

पहाड़ी राज्य उत्तराखंड ने 2003 में औद्योगिक नीति बनाई थी। इसमें औद्योगिक पैकेज के अलावा केंद्र सरकार की ओर से करों में छूट भी दी गई थी।

उत्तराखंड में कितने विधायक हैं?

इसे सुनेंप्रत्येक राज्य में प्रत्येक संसद के सदस्य (सांसद) के लिए सात और नौ विधायक होते हैं, जो भारत के निम्न सदन लोकसभा द्विसदनीय लोकसभा में है। उत्तराखण्ड विधानसभा भारत के उत्तराखण्ड राज्य की विधानसभा को कहते है। यह विधानसभा एकविधाई है और इसमें कुल विधायक संख्या 70 है, तथा एक सदस्य नामांकित होता है जो आंग्ल-भारतीय होना चाहिए। इस प्रकार विधान सभा की कुल सदस्य संख्या 71 हो गयी।

Read More: उत्तराखंड के पहाड़ों में ग्रामीणों के सामने आ रही समस्याएं?

Leave a Reply

Your email address will not be published.