Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. यात्रा गाइड
  6. /
  7. कोलकाता में घुमनें की जगह | बेस्ट समय | प्रमुख स्थान

कोलकाता में घुमनें की जगह | बेस्ट समय | प्रमुख स्थान

हुगली नदी के तट पर बसे इस शहर को 326 वर्ष पूर्व जोब चार्नक ने बसाया था। राजा राममोहन राय, खुदीराम बोस, रवींद्रनाथ टैगोर, ईश्वरचंद्र विद्यासागर, डॉ. रोनाल्ड, सत्यजित राय, अमर्त्य सेन, सुभाषचंद्र बोस, रास बिहारी बोस जैसी शख्सियतें कोलकाता की सरजर्मी पर ही पैदा हुईं।

कोलकाता में घूमने की जगह
कोलकाता में घूमने की जगह

यात्रा से पहले ध्यान रखने योग्य बातें –

  • किसी भी यात्रा पर निकलने से पहले कुछ जरूरी सावधानियां बरतनी चाहिए ताकि यात्रा सफल, सुखद और मंगलमय हो। धर्म स्थानों के दर्शन, पिकनिक, हनीमून या फिर परिवार संग तरोताजा होने के लिए अर्थात किसी भी उद्देश्य से यात्रा करें। लेकिन निम्नलिखित सावधानियों का ध्यान रखें।
  • यात्रा में निकलने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि जिस यात्रा पर जा रहे हैं उसके लिए पास में पर्याप्त धन या धन का स्रोत है कि नहीं।
  • घर से निकलने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि जिस प्रकार की यात्रा (हवाई, रेल या बस) करने जा रहे हैं उसका टिकट लिया है कि नहीं तथा उसके छूटने से पहले वहां पहुंचने का पर्याप्त समय है कि नहीं। यदि हवाई यात्रा है तो चेक इन करने का पर्याप्त समय है कि नहीं ?
  • इसके बाद यदि घर से बाहर जा रहे हैं तो घर की पर्याप्त सुरक्षा का भी ध्यान रखें
  • यात्रा में जाने से पहले पर्याप्त सामान की पैकिंग हुई है या नहीं, जैसे फर्स्ट एड बॉक्स, थर्मस, खाने-पीने का सामान इत्यादि लिया है या नहीं ?
  • यदि किसी हिल स्टेशन या बर्फीली जगहों पर जा रहे हैं तो पर्याप्त गर्म कपड़े लिये हैं। कि नहीं, वहां के मौसम की जानकारी ली है कि नहीं।
  • गंतव्य स्थान के मौसम, ठहरने के स्थान तथा वहां के पर्यटन कार्यालय वगैरह की जानकारी जुटाना अत्यंत लाभकारी है।
  • पर्यटन के दौरान इस बात का खास ख्याल रखें कि जहां स्थानीय लोगों द्वारा मना किया जा रहा हो वह कार्य कदापि न करें वरना जान जोखिम में पड़ सकती है।
  • पर्यटन के दौरान यदि आप कुछ सीखते हैं जैसे-ट्रेकिंग, पैराग्लाइडिंग या आइस स्केटिंग तो गाइड की बातों पर पूरा ध्यान दें।
  • गंतव्य के स्टेशन पर यदि कोई रिक्शेवाला आपसे बहुत कम कीमत पर कहीं पहुंचाने की बात करता है तो उस पर सवार न हों। तीन-चार व्यक्तियों से पूछकर ही जाएं। हो सके तो किसी ऐसे होटल में ठहरें जहां आपके कोई परिचित ठहर चुके हों या फिर आप स्वयं उसके बारे में जानते हों। तीन-चार होटलों में किराया पूछ लें।
  • खरीददारी करते समय बोली गई कीमत पर वस्तु न खरीदें।
  • पर्यटन के दौरान हो सके तो सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करें।
  • उपरोक्त बातों पर यदि ध्यान दिया जाए तो आपकी यात्रा मंगलमय और अविस्मरणीय रहेगी।

कोलकाता जाने का बेस्ट समय –

सितंबर से मार्च तक ।

कोलकाता जाने का मार्ग –

हवाई मार्ग से कोलकाता कैसे पहुचें ?

कोलकाता के लिए राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें हैं। मुख्य हवाई अड्डा नेताजी सुभाषचंद्र एयरपोर्ट है जो देश के सभी वायु मार्गों से जुड़ा है।

रेल मार्ग से कोलकाता कैसे पहुचें ?

मुख्य रेलवे स्टेशन हावड़ा व सियालदह हैं। जो देश के अन्य भागों से जुड़े हैं। कोलकाता में घूमने-फिरने के
विक्टोरिया मेमोरियल के लिए दमदम व टालीगंज से मेट्रो रेल सेवा है।

सड़क मार्ग से कोलकाता कैसे पहुचें ?

निकटवर्ती राज्यों के कई शहरों से यहां के लिए बस सेवाएं हैं।

कोलकाता में प्रमुख दर्शनीय स्थल –

हावड़ा ब्रिज (सेतु) –

कोलकाता का एक भाग हावड़ा है। इस ब्रिज का निर्माण 1914 में किया गया। विश्व का यह अति व्यस्त ब्रिज है। ब्रिज के एक भाग को ‘रवींद्र सेतु’ और दूसरे भाग को ‘विद्यासागर सेतु’ कहते हैं। इस ब्रिज की लंबाई 1500 फीट व चौड़ाई 71 फीट है। यह झूलते खंभों का पुल है और गर्मी के दिन के समय 4 फीट बढ़ जाता है लेकिन रात्रि में पूर्व स्थिति में आ जाता है। इसका फोटो खींचना मना है।

रवींद्र झील –

इस कृत्रिम झील के दक्षिण भाग में एक लघु द्वीप है। झील पर आने-जाने के लिए लकड़ी का एक पुल बना हुआ है। झील के निकट ही रामकृष्ण मिशन का पुस्तकालय है। झील में मत्स्य जल क्रीड़ा आनंददायी है।

तैरता म्यूजियम –

यह विश्व का पहला तैरता म्यूजियम है। जिसमें कोलकाता के 300 साल पुराने इतिहास का अवलोकन किया जा सकता है। यह म्यूजियम प्रत्येक दिन प्रातः 11 बजे से सायं 5 बजे तक खुलता है। विक्टोरिया मेमोरियल रेड रोड व क्वींस-वे को मिलाने वाली सड़क पर स्थित यह मेमोरियल रानी विक्टोरिया की स्मृति में बनाया गया है। इसे 1921 में आम जनता के लिए खोला गया था। सन् 1901 में महारानी विक्टोरिया के निधन के बाद इसकी योजना वायसराय ने बनाई थी।

मेमोरियल में एक तरफ हॉल है तो दूसरी तरफ कोलकाता आर्ट गैलरी है। इसमें यूरोपियन कलाकारों के तैलचित्रा हैं। एक बगीचा भी है जिसमें लोग शाम को घूमने जाते हैं। बगीचे में रोज लाइट एंड साउंड शो होता है।

राष्ट्रीय पुस्तकालय –

वेलवेडियर रोड स्थित देश के सबसे बड़े इस पुस्तकालय में विविध विषयों के 5 लाख से अधिक दस्तावेज व 18 लाख पुस्तकें हैं।राइटर्स बिल्डिंग ब्रिटिश शासकों का यह पहला दुर्ग था जिसे 1696 में बनाया गया था। बाद में इसे बंगाल के नवाब सिराज ने हथिया लिया। अंधा कुआं हत्याकांड यहीं हुआ था। सन् 1780 में ईस्ट इंडिया कंपनी के राइटर्स का इसे आवास बना दिया गया।

कोलकाता में ठहरने के स्थान –

दोस्तों कोलकाता एक भारत का बहुत ही पुराना और बड़ा शहर है यहां पर आपको हर कदम पर होटल रहने के लिए मिल जाएंगे। आप जिस भी जगह पर रुकना चाहते हैं आप अपने आसपास कोई अपने बजट के हिसाब से बढ़िया होटल में रूम देख कर वहां पर रुक सकते हैं।

इसके अलावा में ये कुछ प्रमुख स्थान हैं जहां पर आप रुक सकते हैं क्योंकि, यह स्थान बहुत ही फेमस है जरूरी नहीं है कि आप यहीं पर ही रुके पर एक लोकप्रियता के हिसाब से यह कोलकाता में रुकने के प्रमुख स्थान हैं।जैसे – ऑबेराय होटल , ताज, द बंगाल, द पर्स, गोल्डन पार्क आदि अनेक होटल हैं।

कोलकाता में कुल कितने जिले हैं?

आज में आप सभी को बताना चाहूंगा की कोलकाता में कोई जिला नहीं है क्युकी कोलकाता खुद एक जिला है। कोलकाता, पश्चिम बंगाल राज्य के 21 जिलों में से एक जिला है। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता है।

बंगाल का प्रमुख भोजन क्या है?

  • मच्छी भात (फिश करी) बंगाल में फिश करी सबसे प्रसिद्ध है. …
  • बंगाल में रसगुल्ले बंगाल के रसगुल्लों को भी काफी लोकप्रिय माना जाता है. …
  • कोलकाता का अजूबा पान …
  • काठी रोल्स

कोलकाता में कौन सी माता का मंदिर है?

कोलकाता (Kolkata) की हुगली नदी के तट पर स्थित यह काली मंदिर (Kali Temple) देशभर में मौजूद माता के 51 शक्तिपीठों में से एक है. मान्यता है कि यहां पूजा करने वालों को मां काली मनोकामना पूरा करती है।

बंगाल में क्या चीज मशहूर है?

सुंदरबन नेशनल पार्क भारत के पश्चिम बंगाल में मौजूद, जहां आप दुनिया के सबसे बड़े मैंग्रोव जंगलो में जंगल सफारी कर सकते हैं। यह एक टाइगर रिजर्व और बायोस्फीयर रिजर्व भी है। इस उद्यान में बड़ी संख्या में पक्षी और सरीसृप भी पाए जाते हैं, इसे यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर स्थल का भी दर्जा दिया गया है।

कोलकाता का पुराना नाम क्या है?

कोलकाता को पहले कलकत्ता के नाम से जाना जाता था, भारत के सबसे बड़े शहरों में से एक है। यह शहर हुगली (हुगली) नदी के पूर्वी तट पर स्थित है, जो कभी बंगाल की खाड़ी के सिर head से लगभग 96 मील (154 किमी) ऊपर की ओर गंगा (गंगा) नदी का मुख्य चैनल था।

कोलकाता कितने किलोमीटर में फैला हुआ है?

पश्चिम बंगाल का गठन 26 जनवरी 1950 को हुआ था। पश्चिम बंगाल में कुल 21 जिले है। पश्चिम बंगाल का क्षेत्रफल 88752 वर्ग किलोमीटर है। अगर हम पश्चिम बंगाल की जनसँख्या की बात करे तो 2011 के जनगणना के अनुसार पश्चिम बंगाल की जनसँख्या 9 करोड़ के लगभग है। कोलकाता का क्षेत्रफल 206.1 वर्ग किलोमीटर है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.