Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. internet
  4. /
  5. HTTP और WWW में क्या अंतर है?

HTTP और WWW में क्या अंतर है?

HTTP और WWW – नमस्कार दोस्तों, अक्सर इंटरनेट से जुड़े बहुत से ऐसे सवाल हैं,जो हमारे दिमाग में अक्सर आते हैं। इन्हीं में से आज हम एक विषय पर चर्चा करने वाले हैं और उनमें अंतर भी आपको बताएंगे। तो चलिए बात करते हैं, HTTP और WWW में क्या अंतर होता है, और ये होते क्या हैं। अक्सर आपने किसी भी लिंक में HTTP और WWW को देखा होगा या रेगुलर रूप से देखते होंगे। तो चलिए पहले आपको इन दोनों के बारे में अलग-अलग बताते हैं। और फिर, इन दोनों के बीच में अंतर स्पष्ट करते हैं कि, इन दोनों के बीच में अंतर क्या है?और इनके क्या कार्य हैं?

HTTP क्या है?

HTTP यह एक तरह का नेटवर्क प्रोटोकोल होता है, और यह वर्ल्ड वाइड वेब ( WWW ) में इस्तेमाल किया जाता है। HTTP का पूरा नाम हाइपर टेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकोल ( hyper text transfer protocol ) होता है. और आपको बता दें कि, प्रोटोकॉल का अर्थ निर्देशों का एक समूह होता है। जिससे कि आपके वेब ब्राउज़र और सर्वर के बीच में सूचनाओं के आदान-प्रदान के समय प्रयोग होते हैं। अर्थात, इसे सरल तरीके से समझाएं तो, जब भी आप किसी की वेबसाइट या आर्टिकल को गूगल पर सर्च करते हैं और जब वेबसाइट एड्रेस के बिल्कुल सामने HTTP लिखा हुआ आता है तो, तभी वह ब्राउज़र और सर्वर के बीच किसी भी तरह का डाटा चाहे वह ऑडियो हो, वीडियो हो, इमेज हो या कोई लेख हो, वह ट्रांसफर होता है, और ट्रांसफर होने के समय इनको कुछ नियमों का पालन करना पड़ता है। और वह सभी नियम इसी http प्रोटोकोल के द्वारा ही निर्धारित किए जाते हैं और प्रदर्शित किए जाते हैं।

HTTP प्रोटोकोल यह सुनिश्चित करता है कि, ट्रांसफर होने वाला डाटा का फॉर्मेट कैसा होगा? और यह भी निर्धारित करता है कि, उसका ट्रांसलेशन कैसा होना चाहिए। और अलग-अलग कमांड पर ब्राउज़र और सर्वर की प्रतिक्रिया कैसे होगी। यह सब इसी के द्वारा ही तय किया जाता है।

WWW क्या है?

वर्ल्ड वाइड वेब ( WWW )- इसको WWW, W3 या वेब के नाम से भी जाना जाता है। और इंटरनेट के माध्यम से सुलभ और पब्लिक वेब के पेजों की एक इंटर-कनेक्टेड अर्थात सभी पेज की एक दुसरे से आपस में जुड़े होने की प्रणाली है। और वेब इंटरनेट के समान नहीं है: वेब इंटरनेट के कई एप्लीकेशन में से एक है।

वर्ल्ड वाइड वेब, जिसे आमतौर पर वेब के रूप में जाना जाता है, एक सूचना प्रणाली है, जहां दस्तावेजों और अन्य वेब संसाधनों की पहचान यूनिफ़ॉर्म रिसोर्स लोकेटर ( Uniform Resource Locator )द्वारा की जाती है, जो हाइपरलिंक्स द्वारा परस्पर एक दूसरे से जुड़े होते हैं, और इंटरनेट पर मौजूद हैं।

HTTP और WWW में अंतर –

HTTPWWW
HTTP में URL “http://” से शुरू होता है। वेब ब्राउज़र: कई सेवाओं के लिए एक ही इंटरफ़ेस प्रदान करता है।
HTTP पोर्ट संख्या 80 का प्रयोग करता है। क्रॉस-प्लेटफ़ॉर्म।
HTTP को सिक्योर नहीं मन जाता। ओपन स्टैंडर्ड और ओपन सोर्स।
HTTP एप्लीकेशन लेयर पर काम करता है। समृद्ध उपयोगकर्ता अनुभव।
HTTP में एन्क्रिप्शन अनुपस्थित रहता है। गतिशील, इंटरएक्टिव, विकासशील।
HTTP को किसी प्रकार के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं होती। सामूहिक बुद्धि।

Difference between HTTP and WWW

वेबसाइट नाम में एचटीटीपी (HTTP) क्या है?

प्रोटोकोल। किसी भी वेबसाइट के नाम में एचटीटीपी ( HTTP ) का मतलब प्रोटोकॉल होता है। जो निर्देशों का एक समूह होता है। और क्या सुनिश्चित करना है और क्या नहीं यह सब प्रोटोकॉल ही तय करता है।

यूआरएल (URL)नंबर क्या होता है?

URL असल में एक acronym है जिसकी फुल फॉर्म है “Uniform Resource Locator“। इसे आप एक संकेत या एक address समझ सकते हैं। जो की इंटर्नेट पर किसी एक यूनीक संकेत को दर्शाता है। अगर आप इंटरनेट पे नए हैं तो तब आपको ये शब्द URL बहुत ही confusing लगा होगा.

इसे भी पढ़ें : Who Invented The Internet in Hindi

एचटीटीपी फुल फॉर्म इन हिंदी?

हाइपर टेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकोल

Http और https में क्या अंतर है?

HTTP URL की शुरुआत http:// से शुरू होती है जबकि, HTTPS URL की शुरुआत https:// से होती है। HTTP एक unsecured protocol माना जाता है जबकि, HTTPS को एक secured protocol माना जाता है। HTTP में encryption नही होता लेकिन, HTTPS connection के लिए encryption जरुरी होता है।

3 thoughts on “HTTP और WWW में क्या अंतर है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.