Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. धार्मिक स्थान
  6. /
  7. मैं केदारनाथ से बद्रीनाथ कैसे पहुँचूँ?

मैं केदारनाथ से बद्रीनाथ कैसे पहुँचूँ?

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल में मैं आपको केदारनाथ से बद्रीनाथ जाने का रास्ता बताने जा रहा हूं, तो अगर आप जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें, इसमें। मैंने आपको विस्तार से बताया है कि केदारनाथ से बद्रीनाथ तक आप किन रास्तों से जा सकते हैं।

हरिद्वार, ऋषिकेश, देहरादून और उत्तराखंड के अन्य प्रमुख शहरों से सड़क मार्ग द्वारा बद्रीनाथ आसानी से पहुँचा जा सकता है। मार्ग पर राज्य परिवहन और निजी बसें नियमित रूप से चलती हैं। अगर आप केदारनाथ के दर्शन करके बद्रीनाथ जा रहे हैं, तो गौरीकुंड से बद्रीनाथ के लिए सीधी बस सेवा उपलब्ध है।

इस लेख के माध्यम से मैं आपको केदारनाथ से बद्रीनाथ जाने के लिए पूरी तरह से मार्गदर्शन करूंगा। यहां हम आपको केदारनाथ से बद्रीनाथ की दूरी और सड़क और हवाई मार्ग से यात्रा गाइड के बारे में पूरी जानकारी देंगे। और कितना समय लगता है और कितना समय लगता है और किस माध्यम से आप केदारनाथ से बद्रीनाथ तक पहुँच सकते हैं, तो दोस्तों इसके बारे में जानने के लिए लेख को पूरा पढ़ें, तो दोस्तों चलिए लेख शुरू करते हैं।

बद्रीनाथ के बगल में केदारनाथ कैसे पहुंचे

केदारनाथ से बद्रीनाथ कैसे पहुंचे

  • सड़क मार्ग से बद्रीनाथ तक केदारनाथ
  • केदारनाथ से बद्रीनाथ तक हवाई मार्ग से (हेलीकॉप्टर)
  • केदारनाथ से बद्रीनाथ तक ट्रेन से (अभी उपलब्ध नहीं है)

बद्रीनाथ से केदारनाथ की दूरी

केदारनाथ और बद्रीनाथ के बीच की कुल दूरी लगभग 243 किमी है। इसमें 16 किमी केदारनाथ ट्रेक और 5 किमी गौरीकुंड-सोनप्रयाग मार्ग भी शामिल है। और सड़क मार्ग से सोनप्रयाग से बद्रीनाथ की दूरी 222 किमी है। और इस यात्रा में लगने वाला समय लगभग 7 घंटे 33 मिनट का है। और यह आपके चलने की गति पर भी निर्भर करेगा।

सड़क मार्ग से बद्रीनाथ तक केदारनाथ 

दोस्तों केदारनाथ से बद्रीनाथ जाने के लिए वैसे तो कई रास्ते हैं, लेकिन मैं आपको सड़क का सुरक्षित और सुरक्षित रास्ता बताने जा रहा हूं। केदारनाथ से बद्रीनाथ का पूरा रोडमैप।

इन्हें भी पढ़ें: Top 10 less known and beautiful places of Uttarakhand in hindi

बद्रीनाथ से केदारनाथ का छोटा रूट

  1. Kedarnath ➜ Gorikund
  2. गोरीकुंड ➜ सोनप्रयाग
  3. सोनप्रयाग ➜ fata
  4. Fata ➜ Guptkashi
  5. Guptkashi ➜ Kund 
  6. Kund ➜ Ukhimath 
  7. Ukhimath ➜ Chopta (Tungnath)
  8. चोपता (तुंगनाथ) ➜ गोपेश्वर
  9. Gopeshwar ➜ Chamoli
  10. Chamoli ➜ पीपलकोटि
  11. पीपलकोटि ➜ जोशीमठ
  12. जोशीमठ ➜ गोविंद घाट
  13. गोविंद घाट ➜ Badrinath

बद्रीनाथ से केदारनाथ का मुख्य मार्ग

  1. Kedarnath ➜ Gorikund
  2. गोरीकुंड ➜ सोनप्रयाग
  3. सोनप्रयाग ➜ Fata
  4. Fata ➜ Guptkashi
  5. Guptkashi ➜ Kund
  6. Kund ➜ Chandrapuri
  7. Chandrapuri ➜ Agustamuni
  8. Agustamuni ➜ Tilwara
  9. Tilwara ➜ Rudraprayag
  10. Rudraprayag ➜ Gochar
  11. Gochar ➜ Karnprayag
  12. Karnprayag ➜ Chamoli
  13. Chamoli ➜ Pipalkoti
  14. पीपलकोटि जोशीमठ
  15. जोशीमठ गोविंद घाट
  16. Govind Ghat ➜ Badrinath

ट्रेन से बद्रीनाथ तक केदारनाथ 

दोस्तों अगर आप केदारनाथ से बद्रीनाथ जाने के लिए ट्रेन का इंतजार कर रहे हैं तो आपको बता दें कि पहाड़ों में ट्रेन चलना बहुत मुश्किल है और केदारनाथ और बद्रीनाथ जैसी जगहों पर अभी ट्रेन की सुविधा नहीं है, तो आप ट्रेन को भूल जाते हैं। बस वहाँ जाओ तुम्हें कोई ट्रेन नहीं मिलेगी। और अगर आपका बजट अच्छा है तो आप हेलीकॉप्टर से जा सकते हैं। नहीं तो तुम सड़क से जाओ

केदारनाथ से बद्रीनाथ  तक हवाई मार्ग से  (हेलीकॉप्टर)

अगर आप केदारनाथ से हवाई मार्ग से बद्रीनाथ जाना चाहते हैं, तो वर्तमान समय में यहां केवल हेलीकॉप्टर सेवा उपलब्ध है। यहां से तीन स्थानों के लिए नियमित हेलीकाप्टर सेवा उपलब्ध है और आप केदारनाथ से बद्रीनाथ के लिए सीधी हेलीकाप्टर सेवा भी प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको सबसे पहले गुप्तकाशी, फाटा या सेरसी हेलीपैड से अपना हेलीकॉप्टर टिकट बुक करना होगा। फ्लाइट से केदारनाथ से बद्रीनाथ की दूरी 41 किलोमीटर है।

केदारनाथ मंदिर से बद्रीनाथ मंदिर के लिए कोई सीधी हेलीकॉप्टर सेवा नहीं है। चार धाम यात्रा के चारों मंदिरों के लिए सीधी हेलीकाप्टर सेवा उपलब्ध है। तो मुझे आशा है कि आप समझ गए होंगे। अगर आप इसके बारे में और कुछ जानना चाहते हैं तो हमें कमेंट में बताएं।

केदारनाथ के बारे में

पांडवों की भक्ति और दृढ़ संकल्प को देखकर भगवान शंकर प्रसन्न हुए। उन्होंने दर्शन देकर पांडवों को तुरंत उनके पापों से मुक्त कर दिया। तभी से श्री केदारनाथ में बैल की पीठ के शरीर के रूप में भगवान शंकर की पूजा की जाती है।

केदारनाथ मंदिर का निर्माण किसने करवाया, केदारनाथ मंदिर 12-13वीं शताब्दी का है। इतिहासकार डॉ. शिव प्रसाद डबराल का मानना ​​है कि आदि शंकराचार्य से पहले शैव केदारनाथ जाते रहे हैं, तब भी यह मंदिर मौजूद था।

ऐसा माना जाता है कि केदारनाथ की यात्रा एक हजार साल से चल रही है, लेकिन हां यह भी कहा जाता है कि इसकी स्थापना आदिगुरु शंकराचार्य ने की थी। मंदिर की पूजा श्री केदारनाथ द्वादश ज्योतिर्लिंगों में से एक मानी जाती है। प्रातः काल शिव-पिंड को प्राकृतिक रूप से स्नान कराकर उस पर घी लगाया जाता है।

शहर : केदारनाथ
राज्य : उत्तराखंड
देश : भारत
निकटतम रेलवे स्टेशन: ऋषिकेश (आरकेएसएच)
निकटतम हवाई अड्डा: जॉली ग्रांट

बद्रीनाथ के बारे में

बद्रीनाथ के बारे में कहा जाता है कि पहले भगवान भोलेनाथ यहां निवास करते थे लेकिन बाद में भगवान विष्णु ने भगवान शिव से यह स्थान मांगा। बद्रीनाथ मंदिर भगवान विष्णु को समर्पित एक मंदिर है।

बद्रीनाथ नाम का अर्थ “बद्री पर्वत के भगवान” है। और यह स्थान इस धर्म में वर्णित सबसे पवित्र स्थानों में से एक है, चार धाम, यह एक प्राचीन मंदिर है जिसका निर्माण 7वीं-9वीं शताब्दी में मिलता है। मान्यता के अनुसार।

बद्री विशाल के इस धाम का नाम एक देवी के बलिदान के कारण बद्रीनाथ पड़ा है। ऐसा कहा जाता है कि जब भगवान विष्णु योग ध्यान मुद्रा में तपस्या में लगे थे, तब बहुत अधिक हिमपात होने लगा। भगवान विष्णु पूरी तरह से बर्फ में दब गए। भगवान विष्णु को धूप, बारिश और हिमपात से बचाने के लिए माता लक्ष्मी ने घोर तपस्या की। बद्रीनाथ मंदिर हिंदू देवता विष्णु के एक रूप “बद्री नारायण” की पूजा करता है।

शहर : बद्रीनाथ
राज्य : उत्तराखंड
देश : भारत
निकटतम रेलवे स्टेशन : ऋषिकेश (आरकेएसएच)
निकटतम हवाई अड्डा: जॉली ग्रांट

इन्हें भी पढ़ें: 10 Best Famous Places to visit in Mussoorie tourism

One thought on “मैं केदारनाथ से बद्रीनाथ कैसे पहुँचूँ?

Leave a Reply

Your email address will not be published.