Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. internet
  4. /
  5. E-shram card ke fayde our nuksaan

E-shram card ke fayde our nuksaan

E-Shram Card – नमस्कार दोस्तों, स्वागत है आपका हमारी वेबसाइट ongpl.com में। आज के इस लेख में मैं आपको बताने वाला हूं की ई-श्रम कार्ड के क्या फायदे हैं और क्या नुकसान है और इसे किस तरह से बनाया जाता है। तो चलिए शुरू करते हैं।

दोस्तों, आपको बता दें कि ई-श्रम कार्ड की शुरुआत इस उद्देश्य से की गई है कि वास्तव में हमारे देश में जो गरीब और मध्यम तबके के लोग हैं असल में उनका डाटा सरकार को संपूर्ण रूप से चाहिए था अर्थात सरकार को एक वास्तविक और असल डाटा चाहिए था जिसके लिए श्रम कार्ड की शुरुआत की गई है।

असल में ई-श्रम कार्ड बनाने के पश्चात सरकार का मुख्य उद्देश्य यह है कि जो वास्तव में इस कार्ड के हकदार हैं इसलिए जो सरकार की योजनाएं या मदद के तौर पर दी जाने वाली एक राशि होती है वह वास्तव में गरीब और मध्यम तबके तक वास्तविक रूप से पहुंच सके इसका मुख्य उद्देश्य यही है।

दोस्तों, आपको बता दें कि अभी तक भारत में 26,21,61,628 लोग अपना श्रम कार्ड बना चुके हैं। आंकड़ों के मुताबिक ई-श्रम पोर्टल से जुड़ने वाले श्रमिकों की संख्या 26,21,61,628 हो गई है। वही रजिस्ट्रेशन कर करवाने वालों में घर की कामगार महिलाओं की दावेदारी पुरुष की तुलना में अधिक है।गरीब वर्ग के लोगों के लिए केंद्र सरकार द्वारा समय-समय पर कई योजनाएं शुरू करती है। इन्हीं में से एक है ई-श्रम कार्ड योजना

यह भी पढ़ें : instant e-pan kaise banaye?

क्या है ई-श्रम कार्ड?

जितने भी निजी या असंगठित क्षेत्र में वर्कर्स हैं, जिनका सरकार के पास कोई भी पुख्ता डाटा नहीं था। इस प्रकार से सरकार की अलग अलग योजनाओं के लाभ से वंचित रह जाते थे। इस कार्ड के बनने से उनकी सभी जानकारी एवं बैंक डिटेल्स सरकार के पास चली जायेगी और उनको भविष्य में कोई भी स्कीम का लाभ देना है तो वो ई-श्रम कार्ड के माध्यम से सीधे उनके बैंक खाते में ट्रांसफर किया जा सकता है।

केंद्र सरकार का मकसद यह है कि जो भी असंगठित क्षेत्र हैं उनमें काम करने वाले लोगों तक केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना है। इसलिए अगस्त 2020 में सरकार की ओर से इस ई-श्रम पोर्टल की शुरूआत की गई है। तो चलिए पहले आपको बता देते हैं कि इस कार्ड को बनवाने के लिए आपके पास क्या-क्या चीजें मुख्य रूप से होनी अनिवार्य है।

  • आधार कार्ड
  • मोबाईल नंबर (जोकि आधार से लिंक हो)
  • आपकी उम्र 16 साल से 59 साल की होनी चाहिए
  • आपका बैंक खाता (खाता नंबर और बैंक का IFSC कोड)

ई-श्रम कार्ड के फायदे –

  • ई श्रम कार्ड पूरे भारत में मान्य होगा। उदाहरण के लिए – अगर आप दिल्ली से हैं और कर्नाटक में जाकर कोई काम करना चाहते हैं तो एक ही कार्ड सब जगह मान्य होगा।
  • जो भी नागरिक ई श्रम के पोर्टल पर रजिस्टर्ड होंगे उन सभी को सरकार की अलग अलग स्कीम्स का फायदा उठाने को मिलेगा। जैसे कि उत्तर प्रदेश सरकार ने श्रमिकों को 500 रुपए प्रति माह देने की बात कही है उसी तरह अन्य राज्य भी ऐसी ही योजनाओं के साथ आगे आयेगे।
  • निजी क्षेत्र के श्रमिकों के लिए सरकार कई सारे वैलफेयर की स्कीम्स चलाती है। इनका लाभ उठाने में e श्रम कार्ड उनके लिए सहायक होगा।
  • ई-श्रम कार्ड के माध्यम से सरकार युवाओं को रोजगार दिलाने में सहायक होगी।
  • निजी क्षेत्र के श्रमिकों को खास ट्रेनिंग दी जाएगी। साथ ही श्रमिकों के विकास में लगी कंपनियों को उन लोगों की जानकारी दी जाएगी, जिससे कि उनको रोजगार मिलना आसान हो जायेगा।
  • ई-श्रम कार्ड में बार बार रजिस्ट्रेशन करवाने की जरूरत नहीं होती है। पहले भी सरकार श्रमिक कार्ड बनवाया करती थी जिसे हर साल रिन्यू करवाना होता था। पर ई-श्रम कार्ड में कोई भी रिन्यूअल करवाने ही जरूरत नहीं है।
  • इस योजना के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन करते ही सबको एक इंश्योरेंस मिलता था जो की PMSBY (प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना) सरकार की एक स्कीम है। इसके अंतर्गत यदि किसी की मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को 2 लाख रुपए तक का इंश्योरेंस कवर दिया जाता है। साथ ही यदि कोई किसी दुर्घटना के कारण विकलांग हो जाता है तो उसे 1 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
  • सरकार की PMSBY के अंतर्गत सोशल सिक्योरिटी की स्कीम में अपना पंजीकरण करवा कर कोई अपनी पेंशन को सुनिश्चित करवा सकते हैं और 60 साल के बाद 3000 रुपए मासिक के रूप में सरकार से ले सकते हैं।
  • सोशल सिक्योरिटी के अंतर्गत और भी स्कीम्स हैं, जिसमे श्रमिक चाहें तो उनमें भी अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। हर स्कीम के फायदे और एलिजिबिलिटी अलग अलग है जैसे कि – नेशनल पेंशन स्कीम, प्रधानमंत्री जीवन ज्योत योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत योजना, आदि के फायदे भी ई श्रम पोर्टल पर देखे जा सकते हैं।

ई-श्रम कार्ड के नुकसान –

  • इतने फायदे होने के बाद वैसे तो ई-श्रम कार्ड के कोई नुकसान नहीं हैं, लेकिन दो वर्गों के लोग इसके अलग-अलग लाभ से वंचित रहेंगे।
  • पहला वर्ग उन लोगों का है, जो कि सरकारी कर्मचारी हैं। अर्थात् वे पहले ही सरकारी योजनाओं का लाभ ले रहे हैं, और
  • दूसरा वर्ग उन लोगों का है, जो बड़े व्यवसायी हैं और आयकर दाता होते हैं। ये लोग सरकारी योजनाओं का फायदा उठाए बिना ही सभी सुख सुविधाओं को प्राप्त करते हैं।
  • अतः इन दो वर्ग के लोग ई श्रम कार्ड से संबंधित लाभ नहीं उठा सकते हैं।
  • अगर हमारे उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले विद्यार्थी ई-श्रम पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाते हैं तो भविष्य में चलकर उनको नौकरी प्राप्त करने में दिक्कत हो सकती है।
  • इसके अलावा छात्रवृत्ति प्राप्त करने में, प्रतियोगी परीक्षाओं में भाग लेने में, सरकारी नौकरी प्राप्त करने के अवसरों में समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published.