Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. धार्मिक स्थान
  6. /
  7. चारधाम तीर्थयात्रियों को पंजीयन पर स्मार्ट बैंड मुहैया कराया जाएगा

चारधाम तीर्थयात्रियों को पंजीयन पर स्मार्ट बैंड मुहैया कराया जाएगा

चारधाम तीर्थयात्रियों को पंजीयन पर स्मार्ट बैंड मुहैया कराया जाएगा

चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों को इस बार हाईटेक फोटोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन की सुविधा मिलेगी। यह काम आईटी सेक्टर में काम करने वाली संस्था एथिक्स इन्फोटेक को सौंपा गया है।

QR Code सुविधा के साथ हैंड-बैंड

ऑफलाइन पंजीकरण कराने वाले श्रद्धालुओं को क्यूआर कोड की सुविधा वाला हैंड बैंड उपलब्ध कराया जाएगा। ऑनलाइन पंजीकरण करने वालों के लिए यह सुविधा मोबाइल ऐप और वेबसाइट के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी। ऋषिकेश हरिद्वार सहित यात्रा मार्ग के सभी प्रमुख केंद्र 15 अप्रैल से काम करना शुरू कर देंगे।

वर्ष 2013 में केदारनाथ आपदा के बाद राज्य सरकार ने यात्रा पर आने वाले सभी तीर्थयात्रियों के लिए बायोमेट्रिक पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध करायी थी. बाद में इस सेवा को फोटोमेट्रिक बना दिया गया। कोरोना काल में ऐसी सुविधा नहीं थी।

चारधाम यात्रा की तैयारी के लिए इस वर्ष 28 फरवरी को ऋषिकेश में आयुक्त गढ़वाल संभाग सुशील कुमार ने सभी प्रमुख अधिकारियों की बैठक बुलाकर आवश्यक निर्देश दिये. जिसमें चारधाम यात्रा पर आने वाले प्रत्येक श्रद्धालु का पंजीकरण अनिवार्य कर दिया गया था। अब तक तीर्थयात्रियों के पंजीकरण का कार्य त्रिलोक सुरक्षा प्रणाली द्वारा किया जाता था। इस साल यह काम एथिक्स इन्फोटेक को दिया गया है।

चारधाम तीर्थयात्रियों को पंजीयन पर स्मार्ट बैंड मुहैया कराया जाएगा
चारधाम तीर्थयात्रियों को पंजीयन पर स्मार्ट बैंड मुहैया कराया जाएगा

अब सभी चारधाम सेवाएं हाईटेक

पुरानी व्यवस्था के अनुसार, तीर्थयात्रियों को पंजीकरण केंद्र या मोबाइल वैन के माध्यम से कैमरे के सामने खड़ा किया जाता था और उनकी जानकारी कंप्यूटर सिस्टम में दर्ज की जाती थी और बदले में उन्हें एक पंजीकरण कार्ड दिया जाता था। अब इन सभी सेवाओं को हाईटेक कर दिया गया है। अब इसके लिए एटीएम की तर्ज पर कियोस्क मशीन उपलब्ध करा दी गई है।

जिन भक्तों के पास स्मार्टफोन या ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा है, उन्हें पंजीकरण केंद्र में आने की आवश्यकता नहीं है। वे घर बैठे अपना पंजीकरण करा सकते हैं। इसके लिए मोबाइल एप और वेबसाइट के जरिए सुविधा उपलब्ध होगी। इसमें भक्त अपनी मेल आईडी भी उपलब्ध कराएगा।

जिन श्रद्धालुओं ने ऑनलाइन पंजीकरण कराया है, उनके मोबाइल पर क्यूआर कोड सुविधा के साथ पंजीकरण उपलब्ध होगा। जिन भक्तों के पास स्मार्टफोन या ऑनलाइन सुविधा नहीं है, उन्हें भक्त पंजीकरण केंद्र पर जाकर अपना पंजीकरण कराना होगा। इन केंद्रों में एथिक्स इन्फोटेक द्वारा सहायता कर्मियों को तैनात किया जाएगा। ये कर्मचारी उन यात्रियों की मदद करेंगे जो खुद मशीन में अपना विवरण दर्ज नहीं कर सकते हैं।

ऐसे होगा चारधाम ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन

हरिद्वार ऋषिकेश सहित चारधाम यात्रा मार्ग पर जहां भी पंजीकरण केंद्र खोले जा रहे हैं, वहां स्वैप मशीन हैंडल डिवाइस की सुविधा उपलब्ध होगी. इसमें टच मशीन के जरिए श्रद्धालुओं की जानकारी दर्ज की जाएगी। ये मशीनें बैंकों के एटीएम की तर्ज पर काम करेंगी।

पंजीकरण केंद्र पर आने वाले ऐसे श्रद्धालुओं को एथिक्स इन्फोटेक द्वारा हैंड बैंड उपलब्ध कराए जाएंगे। जिसमें तीर्थयात्रियों की पूरी जानकारी देने वाला क्यूआर कोड उपलब्ध होगा। इस क्यूआर कोड के जरिए चार धामों पर तीर्थयात्रियों का सत्यापन करना आसान होगा। चारधामों पर सत्यापन के लिए स्कैनर मशीनें भी उपलब्ध रहेंगी।

इन जगहों पर मिलेगी चारधाम रजिस्ट्रेशन की सुविधा-

  • ऋषिकेश – चारधाम यात्रा बस स्टैंड, गुरुद्वारा श्री हेमकुंड साहिब
  • हरिद्वार – राही मोटल, रेलवे स्टेशन
  • बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री धाम
  • बरकोट, डोबटा, जानकी चट्टी, हिना, सोनप्रयाग, पाखी, गोविंदघाटी

Leave a Reply

Your email address will not be published.