Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. धार्मिक स्थान
  6. /
  7. पहले चरण में चारधाम यात्रा के लिए 50 रोडवेज बसें आवंटित

पहले चरण में चारधाम यात्रा के लिए 50 रोडवेज बसें आवंटित

चारधाम यात्रा के लिए रोडवेज बसें

रोडवेज ने चारधाम यात्रा की तैयारी शुरू कर दी है। चार धाम यात्रा में भीड़ बढ़ी तो 50 बसें आवंटित की जाएंगी। इसके साथ ही यात्रा शुरू होते ही ऋषिकेश से चारधाम के लिए दैनिक बस सेवाएं भी चलेंगी। चारधाम यात्रा मार्ग पर रोडवेज बसें चलाने से यात्रियों को लाभ होगा।

इस साल यमुनोत्री और गंगोत्री धाम के कपाट 03 मई को खुलेंगे जबकि केदारनाथ और बद्रीनाथ के कपाट क्रमश: 06 मई और 08 मई को खुलेंगे. कोविड-19 के कारण पिछले दो साल से चारधाम यात्रा धीमी थी। कोविड-19 के चलते चार धाम यात्रा में बहुत कम यात्री आए।

लेकिन इस साल चीजें बेहतर दिख रही हैं। चार धाम यात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में खासा उत्साह है। यात्रा मार्ग के होटलों में पैक लगने लगे हैं। बस और टैक्सी चालकों को भी एडवांस बुकिंग मिलनी शुरू हो गई है। ऐसे में उत्तराखंड रोडवेज ने भी 2022 में होने वाली चारधाम यात्रा की तैयारी शुरू कर दी है।

पहले चरण में चारधाम यात्रा के लिए 50 रोडवेज बसें आवंटित
पहले चरण में चारधाम यात्रा के लिए 50 रोडवेज बसें आवंटित

पीक सीजन में रोडवेज चारधाम यात्रा रूट पर 50 बसें चलाने की तैयारी कर रहा है। इसके साथ ही दैनिक बस सेवा की शुरुआत से की जाएगी ऋषिकेश से केदारनाथीयात्रा शुरू होते ही यमुनोत्री, गंगोत्री और बद्रीनाथ।

रोडवेज की इन बसों से स्थानीय यात्रियों को भी फायदा होगा। रोडवेज की बसों से बाहर से आने वाले तीर्थयात्रियों के साथ-साथ स्थानीय यात्रियों को भी लाभ मिलेगा। उत्तराखंड में 65 साल से अधिक उम्र के लोगों के लिए रोडवेज बस में मुफ्त यात्रा की सुविधा है। इसके अलावा कुछ अन्य श्रेणियां भी हैं, जिन्हें मुफ्त यात्रा का लाभ मिलता है। रोडवेज की बसें चलेंगी तो विशेष वर्ग के लोगों को फायदा होगा।

चारधाम यात्रा प्रातः 05 बजे से सायं 08 बजे तक

परिवहन विभाग ने चारधाम यात्रा मार्ग पर वाहनों के संचालन का समय निर्धारित किया है। यात्रा मार्ग पर सुबह पांच बजे से रात आठ बजे तक वाहनों का संचालन होगा। हादसों पर लगाम लगाने के मकसद से लिए गए इस फैसले से परिवहन विभाग और पुलिस की चौकियों से देर रात तक चलने वाले वाहनों पर रोक लगेगी.

तेज गति वाले वाहनों पर अंकुश लगाने के लिए प्रवेश निकास का समय

यात्रा में तेज गति वाले वाहनों को रोकने के लिए वाणिज्यिक वाहन चालकों को यात्रा की शुरुआत में चेकपोस्ट में तारीख और समय और उसी चेक पोस्ट पर ग्रीन कार्ड में लौटने का समय अंकित करना होगा। उदाहरण के लिए, यदि यात्रा का समय सात दिन है, तो चालक को बाहर निकलने पर पहले दिन और लौटने के बाद सातवें दिन प्रवेश करना होगा। यदि वह बिना कारण निर्धारित समय से पहले लौटता है तो उसका ग्रीन कार्ड रद्द कर दिया जाएगा।

अन्य चारधाम यात्रा की तैयारी

  • जल्द शुरू होंगे ग्रीन कार्ड
  • यात्रा मार्ग पर परिवहन विभाग की चौकियां जल्द शुरू होंगी।
  • पहली बार यात्रा मार्ग पर जाने वाले चालकों को आईडीटीआर में प्रशिक्षित किया जाएगा
  • यात्रियों को अनाधिकृत वाहनों से यात्रा करने से रोकने के लिए हरिद्वार से ही बैनर पोस्टर के माध्यम से जागरूकता फैलाई जाएगी।
  • यात्रा में बुकिंग परिवहन विभाग से अधिकृत ट्रेवल एजेंट के माध्यम से ही की जायेगी
  • दूसरे राज्यों से आने वाले अनाधिकृत वाहनों को रोकने के लिए सीमा शुल्क पर्चियां बनाई जाएंगी
  • अनधिकृत ट्रैवल एजेंटों को गिरफ्तार किया जाएगा और उनके कार्यालयों को सील कर दिया जाएगा

चारधाम यात्रा को लेकर परिवहन विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। सुरक्षित यात्रा के लिए बसों की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी। इसमें रोडवेज बसों को भी शामिल करने पर विचार किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.