Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Tour & travel
  4. /
  5. उत्तराखंड पर्यटन
  6. /
  7. बागनाथ मंदिर कहां है? बागनाथ मंदिर कैसे पहुँचें?

बागनाथ मंदिर कहां है? बागनाथ मंदिर कैसे पहुँचें?

बागनाथ मंदिर भारत के उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर शहर में स्थित एक हिंदू मंदिर है। यह भगवान बागनाथ को समर्पित है, जिन्हें भगवान शिव का अवतार माना जाता है। मंदिर क्षेत्र में एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है और अपनी सुंदर वास्तुकला और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है।

बागनाथ मंदिर
बागनाथ मंदिर अल्मोड़ा

बागनाथ मंदिर क्यों प्रसिद्ध है?

बागनाथ मंदिर भारत के उत्तराखंड राज्य के बागेश्वर शहर में स्थित एक प्रसिद्ध हिंदू मंदिर है। यह भगवान बागनाथ को समर्पित है, जिन्हें भगवान शिव का अवतार माना जाता है। मंदिर क्षेत्र में एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है और अपनी सुंदर वास्तुकला और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है।

यह अपने वार्षिक मेले के लिए भी जाना जाता है, जो देवता के सम्मान में आयोजित किया जाता है और देश भर से हजारों भक्तों और पर्यटकों को आकर्षित करता है। इसके अतिरिक्त, मंदिर को इस क्षेत्र के सबसे पवित्र स्थानों में से एक माना जाता है और यह हिंदुओं के तीर्थयात्रा का एक महत्वपूर्ण केंद्र है।

बागनाथ मंदिर का इतिहास?

हिंदू किंवदंती के अनुसार, ऋषि मार्कंडेय ने यहां शिव की पूजा की थी। भगवान शिव ने यहां बाघ के रूप में आकर ऋषि मार्कंडेय को आशीर्वाद दिया था। हालांकि कुछ सूत्रों का कहना है कि 7 वीं शताब्दी के बाद से बागनाथ मंदिर का अस्तित्व, नागर शैली में वर्तमान इमारत 1450 में चंद शासक लक्ष्मी चंद द्वारा बनाई गई थी।

मंदिर में विभिन्न मूर्तियां 7 वीं शताब्दी ईस्वी से 16 वीं शताब्दी ईस्वी तक की हैं। 1996 में, उत्तराखंड राज्य के पुरातत्व विभाग ने मंदिर को अपने कब्जे में ले लिया, जिसके बाद आठवीं से दसवीं शताब्दी के कई शिलालेख और मूर्तियों को मंदिरों के अंदर सील कर दिया गया। इनमें शिव, गणेश, विष्णु, चतुर्मुखी शिव, तीन मुखी शिव, पंच मुखी शिव, महिषासुर मर्दिनी, सहस्र शिवलिंग, गणेश, कार्तिकेय, पंचदेवपथ, नवग्रह आदि की मूर्तियां शामिल हैं।

बागनाथ मंदिर की स्थापना कब और किसने की थी?

कुछ स्रोत 7 वीं शताब्दी के बाद से बागनाथ मंदिर का अस्तित्व बताते हैं, नागर शैली में वर्तमान इमारत 1450 में चंद शासक लक्ष्मी चंद द्वारा बनाई गई थी। मंदिर में विभिन्न मूर्तियाँ 7वीं शताब्दी ईस्वी से 16वीं शताब्दी ईस्वी तक की हैं।

सड़क, ट्रेन और हवाई मार्ग से बागनाथ मंदिर कैसे पहुँचे?

बागेश्वर, जहां बागनाथ मंदिर स्थित है, सड़क, ट्रेन और हवाई मार्ग से पहुंचा जा सकता है। बागेश्वर कैसे पहुंचे इसके लिए यहां कुछ विकल्प दिए गए हैं:

  • सड़क मार्ग से:

बागेश्वर अल्मोड़ा, नैनीताल और पिथौरागढ़ सहित क्षेत्र के प्रमुख शहरों से सड़कों द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। इन शहरों से बागेश्वर जाने के लिए आप बस ले सकते हैं या टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

  • ट्रेन मार्ग से:

बागेश्वर का निकटतम रेलवे स्टेशन काठगोदाम में स्थित है, जो लगभग 200 किलोमीटर दूर है। वहां से आप बागेश्वर पहुंचने के लिए बस ले सकते हैं या टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

  • हवाई मार्ग से:

बागेश्वर का निकटतम हवाई अड्डा पंतनगर हवाई अड्डा है, जो लगभग 280 किलोमीटर दूर है। हवाई अड्डे से आप बागेश्वर पहुँचने के लिए टैक्सी किराए पर ले सकते हैं।

बाइक और कार से बागनाथ मंदिर कैसे पहुंचे?

यदि आप बाइक या कार से बागनाथ मंदिर पहुंचना चाहते हैं, तो आप इन निर्देशों का पालन कर सकते हैं:

  • बाइक से:

बागेश्वर अल्मोड़ा, नैनीताल और पिथौरागढ़ सहित क्षेत्र के प्रमुख शहरों से सड़कों द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। इन शहरों से बागेश्वर जाने के लिए आप बाइक से उपयुक्त रास्ता अपना सकते हैं।

  • कार से:

बागेश्वर अल्मोड़ा, नैनीताल और पिथौरागढ़ सहित क्षेत्र के प्रमुख शहरों से सड़कों द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। इन शहरों से बागेश्वर जाने के लिए आप कार से उपयुक्त रास्ता अपना सकते हैं।

नोट: ये अनुमानित दूरी और यात्रा के समय हैं और आपके स्थान और परिवहन के साधन के आधार पर भिन्न हो सकते हैं। अपनी यात्रा की पहले से योजना बनाना और वाहन चलाते समय स्थानीय यातायात कानूनों और विनियमों का पालन करना हमेशा एक अच्छा विचार है।

बागनाथ मंदिर में घूमने के प्रमुख स्थान?

बागनाथ मंदिर बागेश्वर में एक लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है, और कई अन्य दर्शनीय स्थल हैं जहाँ आप यात्रा के दौरान जा सकते हैं। बागनाथ मंदिर के पास घूमने के कुछ प्रमुख स्थानों में शामिल हैं:

  • बागेश्वर किला: गोमती नदी के तट पर स्थित, बागेश्वर किला एक प्राचीन किला है जो आसपास के क्षेत्र के मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है।
  • बागनाथ मंदिर: बागनाथ मंदिर एक हिंदू मंदिर है जो भगवान बागनाथ को समर्पित है, जिन्हें भगवान शिव का अवतार माना जाता है। यह मंदिर अपनी सुंदर वास्तुकला और धार्मिक महत्व के लिए जाना जाता है।
  • बागेश्वर मंदिर: शहर के मध्य में स्थित बागेश्वर मंदिर बागेश्वर में एक और लोकप्रिय पूजा स्थल है। यह भगवान शिव को समर्पित है और हिंदुओं के लिए तीर्थ यात्रा का एक महत्वपूर्ण केंद्र है।
  • गोमती मंदिर: गोमती नदी के तट पर स्थित, गोमती मंदिर हिंदुओं के लिए एक लोकप्रिय पूजा स्थल है। यह नदी देवी गोमती को समर्पित है और अपनी सुंदर वास्तुकला और शांतिपूर्ण वातावरण के लिए जाना जाता है।
  • कांडा मंदिर: शहर के सामने एक पहाड़ी पर स्थित, कांडा मंदिर हिंदुओं के लिए एक लोकप्रिय पूजा स्थल है। यह देवता कांडा को समर्पित है, जिन्हें भगवान शिव का अवतार माना जाता है। मंदिर आसपास के क्षेत्र के मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है।

बागनाथ मंदिर में रहने की क्या ब्यवस्था है?

बागनाथ मंदिर या उसके आस-पास ठहरने की व्यवस्था हो सकती है, लेकिन क्या होगी, इसकी विशेष जानकारी मुझे नहीं है। क्षेत्र में आवास विकल्पों के बारे में जानकारी के लिए मंदिर के अधिकारियों या स्थानीय पर्यटन एजेंसी से जांच करना हमेशा एक अच्छा विचार है।

बागेश्वर और आसपास के क्षेत्र में कई होटल और गेस्टहाउस भी हैं जिन पर आप ठहरने के लिए विचार कर सकते हैं। ये आवास बजट से लेकर मध्य-श्रेणी से लेकर लक्ज़री तक हैं और विभिन्न सुविधाएँ और सेवाएँ प्रदान करते हैं। आप ऑनलाइन या स्थानीय ट्रैवल एजेंट के माध्यम से विकल्पों की तलाश कर सकते हैं, या आप मंदिर के अधिकारियों या स्थानीय निवासियों से सिफारिशों के लिए पूछ सकते हैं।

इसके अतिरिक्त, यदि आप अधिक देहाती या बाहरी अनुभव पसंद करते हैं, तो आप क्षेत्र में एक तंबू या कैंपसाइट में रहने पर विचार कर सकते हैं। इस क्षेत्र में कई कैंपसाइट और एडवेंचर टूर ऑपरेटर हैं जो आपके ठहरने के लिए टेंट, उपकरण और अन्य सुविधाएं प्रदान कर सकते हैं।

अपने आवास को अग्रिम में बुक करना हमेशा एक अच्छा विचार होता है, विशेष रूप से पीक टूरिस्ट सीज़न के दौरान, यह सुनिश्चित करने के लिए कि आपके आने पर ठहरने के लिए जगह हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.