Digital sewa and tour and travel guide

Just another WordPress site

  1. Home
  2. /
  3. Govt Scheme
  4. /
  5. Agnipath Bharti Yojna 2022

Agnipath Bharti Yojna 2022

Agnipath Bharti Yojna – सरकार ने भारतीय सेना में भर्ती के लिए एक नई योजना अग्निपथ की घोषणा की है। अब तीनों सेवाओं में सिर्फ चार साल के लिए नई भर्तियां होंगी। 4 साल बाद 75 फीसदी जवानों को घर भेजा जाएगा।

Agnipath Bharti Yojana
Agnipath Bharti Yojana

अग्निपथ योजना से किनकी भर्ती होगी? किनके लिए है यह योजना?

अग्निपथ योजना 2022 –

भारतीय सेना में भर्ती (भारतीय सेना IAF नौसेना भर्ती 2022) अब अग्निपथ योजना के माध्यम से की जाएगी। सेना, नौसेना और वायु सेना में शामिल होने के इच्छुक युवाओं के बीच इस योजना को लेकर कई सवाल हैं।

Agnipath Bharti Yojana
Agnipath Bharti Yojana
  • अग्निपथ योजना के तहत सेनाओं में किन पदों पर भर्ती होगी?
  • भर्ती के लिए योग्यता क्या होगी?
  • कैसे होगी परीक्षा, चयन प्रक्रिया और इंटरव्यू?
  • प्रशिक्षण, नौकरी और वेतन, भत्ते और पेंशन क्या होगी?
  • कैसे पता करें कि भर्ती खत्म हो गई है और आवेदन कैसे करें?
  • यहां जानिए इस योजना से जुड़े तमाम सवालों के जवाब।

Agnipath Bharti Yojna 2022
अग्निपथ योजना

अग्निपथ योजना क्या है? Agnipath Bharti Yojna

भारतीय सेना, नौसेना और वायु सेना में 4 साल के लिए सैनिकों की भर्ती की जाएगी। सेना में सैनिकों (जवानों), नौसेना में नाविकों और वायु सेना में एयरमैन की भर्ती, वे भर्तियां अब इस योजना के तहत होंगी। जिन जवानों की भर्ती की जाएगी उनका नाम अग्निवीर होगा।

4 साल बाद 75 फीसदी जवानों को घर भेजा जाएगा। शेष 25 प्रतिशत अग्निशामकों को स्थायी जवानों के रूप में नियुक्त किया जाएगा। इसकी प्रक्रिया तय की जाएगी जिसमें स्थायी होने के लिए ‘अग्निवीर’ आवेदन करेगा।

Agnipath Bharti Yojana
Agnipath Bharti Yojana

अग्निपथ योजना सिर्फ जवानों के लिए है। यह योजना अधिकारियों पर लागू नहीं होगी। यह योजना सेवा अधिकारी के पद से नीचे के कर्मियों के लिए होगी। मौजूदा जवानों की खुली भर्ती के स्थान पर नई योजना लाई गई है। फिलहाल जनरल ड्यूटी के अलावा क्लर्क, स्टोर कीपर, ट्रेड्समैन और नर्सिंग असिस्टेंट जैसे पदों पर ओपन भर्तियां चल रही हैं।

थल सेना, नौसेना और वायु सेना में सैनिकों की मौजूदा भर्ती प्रक्रिया में कोई बदलाव नहीं होगा। यानी अग्निवीरों का चयन मौजूदा चयन प्रक्रिया के माध्यम से ही किया जाएगा। फिलहाल सेना में शॉर्ट सर्विस कमीशन के जरिए अधिकारियों की नियुक्ति 10 साल के लिए की जाती है, जिसे बढ़ाकर 14 साल कर दिया गया है। इस व्यवस्था में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

क्या होगी अग्निवीरों की सैलरी?


हर अग्निवीर को भर्ती के पहले साल 30 हजार महीने सैलरी मिलेगी। दूसरे साल अग्निवीर की तनख्वाह बढ़कर 33 हजार, तीसरे साल 36.5 हजार तो चौथे साल 40 हजार रुपये हो जाएगी। हालांकि इनकी सैलरी में से सेवानिधि पैकेज के लिए हर बार 30-30 फीसदी कटेगा। जैसे पहले साल में 30 हजार रुपये मिलने हैं। लेकिन इसमें से 21 हजार रुपये ही उसे दिए जाएंगे। बाकी 30 फीसदी यानी 9 हजार रुपये अग्निवीर कॉर्प्स फंड में जमा होंगे। इस फंड में इतनी ही राशि (9 हजार रुपये) सरकार भी डालेगी।

महिलाओं को भी मौका मिलेगा – इंडियन आर्मी में हालांकि सिर्फ युवकों को भर्ती का मौका मिलेगा। वायुसेना एवं नौसेना ने ऐलान किया है कि इस योजना के तहत युवतियों को भी अग्निवीर के तौर पर भर्ती किया जाएगा।

4 साल बाद ड्यूटी से मुक्त किए गए अग्निवीरों को क्या सुविधाएं मिलेंगी? क्या पेंशन मिलेगी?


इनको पेंशन तो नहीं मिलेगी पर सेवा निधि पैकेज मिलेगा। इस फंड के लिए अग्निवीरों की मासिक सैलरी का 30 फीसदी काटा जाएगा। इतनी ही रकम सरकार जमा करेगी। 4 साल बाद सेना से ड्यूटी मुक्त होने वाले 75 फीसदी ऐसे अग्निवीरों को 11.71 लाख रुपये की सेवा निधि पैकेज दिया जाएगा। इस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। इसके अलावा उनको मिले कौशल प्रमाणपत्र और बैंक लोन के जरिये उन्हें दूसरी नौकरी शुरू करने में मदद की जाएगी।

4 साल बाद सेना से बाहर किए गए युवाओं का क्या होगा?


चार साल की सेवा के बाद सेना से ड्यटूी मुक्त किए गए नौजवानों को केंद्र और राज्य सरकार रोजगार में प्राथमिकता प्रदान करेंगी। इन्हें सीएपीएफ और असम राइफल्स में भर्ती के दौरान प्राथमिकता मिलेगी। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार (10 जून 2022) को यह ऐलान किया।

इसके अलावा यूपी सरकार, उत्तराखंड सरकार और एमपी सरकार ने अपनी-अपनी पुलिस भर्तियों में इन युवाओं को प्राथमिकता देने की घोषणा की है। हरियाणा सरकार ने कहा है कि वह इन 75 फीसदी अग्निवीरों को सरकारी नौकरियों में प्राथमिकता देगी और 25 फीसदी को स्थायी नौकरी मिलेगी।

4 साल की सर्विस के दौरान अगर वीरगति को प्राप्‍त हुए तो क्या होगा?

सभी अग्निवीरों का 44 लाख रुपये का नॉन-प्रीमियम इंश्‍योरेंस कवर होगा। ड्यूटी के दौरान दिव्यांग होने पर 44 लाख रुपये की अतिरिक्‍त अनुग्रह राशि मिलेगी। इसके अलावा, परिवार को सेवा निधि सहित चार सालों तक सेवा न किए गए हिस्‍से का भी वेतन भी दिया जाएगा।यदि कोई अग्निवीर सेवा के दौरान बलिदान होता है तो उसके परिजनों को सेवा निधि के साथ ही 1 करोड़ रुपए और बाकी नौकरी का वेतन मिलेगा ‌‌।

सर्विस के दौरान दिव्‍यांग होने के बाद क्या होगा?


जितने प्रतिशत सेवक की अक्षमता होगी, उसके आधार पर मुआवजा दिया जाएगा। 100 फीसदी अक्षम होने पर 44 लाख रुपये, 75 फीसदी अक्षम होने पर 25 लाख रुपये और 50 फीसदी अक्षम होने पर 15 लाख रुपये दिए जाएंगे।ऐंशा ऐलान सरकार ने किया है।

ऐसा होगा सैलरी स्ट्रक्चर –

  • पहले साल सालाना पैकेज 4.76 लाख होगा।
  • चौथे साल तक पैकेज 6.92 लाख तक हो जाएगा।
  • रिस्क और कठिनाई के आधार पर बाकी अलॉयंस मिलते रहेंगे।

सेवा निधि पैकेज –

  • सैलरी में से 30% योगदान अग्निवीर करेंगे, उतना ही सरकार करेगी।
  • 4 साल पूरे होने के बाद करीब 11.7 लाख रुपए मिलेंगे।
  • इसमें इनकम टैक्स से छूट मिलेगी।

ऐन्से होगी भर्ती प्रक्रिया?

  • अग्निपथ स्कीम के तहत भर्ती होगी।
  • सर्विस की जरूरतों के आधार पर महिलाओं को भी मौका मिलेगा।
  • 17.5 से 21 साल तक के युवा आवेदन कर सकेंगे।
  • मौजूदा मेडिकल औरफिजिकल नियमों के तहत चयन होगा।
  • आर्ल्ड फोर्सेज के नियमों के मुताबिक, 10वीं या 12वीं पास की शैक्षिक योग्यता अनिवार्य होगी।
  • 10वीं पास करके आए अग्निवीरों को 12वीं का सर्टिफिकेट देने के लिए सिस्टम तैयार किया जाएगा।

Official Website Link – Click Here

Agnipath Bharti Yojana 2022 के लिए नोटिफिकेशन कब जारी होगा?

सितंबर 2022 में।

Agnipath Bharti Yojana 2022 के तहत सेना में भर्ती कितने साल की होगी?

4 साल के लिए भर्ती की जाएगी।

भर्ती के लिए योग्यता क्या होगी?

10वीं और 12वीं पास।

Agnipath Bharti Yojana 2022 के लिए उम्र सीमा क्या है?

17.5 से 21 वर्ष

Leave a Reply

Your email address will not be published.